इलाहाबाद के प्रदूषित जलापूर्ति ने शहरियों की बढ़ा दी है परेशानी

इलाहाबाद: कुंभ मेले के मद्देनजर शहर में चल रहे विकास कार्यो के कारण जगह-जगह पाइप लाइनें क्षतिग्रस्त हैं। इससे लीकेज की समस्या बढ़ गई है। जलकल विभाग के कर्मचारी कहीं लीकेज ट्रेस कर ले रहे हैं, तो कहीं विफल साबित हो रहे हैं। इससे प्रदूषित जलापूर्ति पर अंकुश नहीं लग पा रहा है। गंदे पानी ने शहरियों की मुश्किलें बढ़ा दी हैं।इलाहाबाद के प्रदूषित जलापूर्ति ने शहरियों की बढ़ा दी है परेशानी

तमाम लोग उल्टी-दस्त और डायरिया जैसी बीमारी से परेशान हैं। लूकरगंज, हिम्मतगंज, कालिंदीपुरम, राजरूपपुर, मीरापुर, अल्लापुर में शिवाजी नगर, मटियारा रोड, अमिताभ बच्चन रोड, 80 फीट रोड, बाघंबरी हाउसिंग स्कीम, बाघंबरी गद्दी, करेली, खुल्दाबाद, नूरुल्ला रोड, मधवापुर, बैरहना क्षेत्रों में प्रदूषित जलापूर्ति की शिकायत लगातार बनी हुई है।

कहीं मटमैला, बदबूदार पानी आ रहा है तो कहीं बालूयुक्त पानी की आपूर्ति हो रही है। इससे जिन घरों में आरओ और फिल्टर लगे हैं, वह भी जवाब देने लगे हैं। लिहाजा, लोगों में उल्टी, दस्त और डायरिया की शिकायतें बढ़ रही हैं। इससे लोगों में नाराजगी बढ़ती जा रही है। वहीं, जलकल विभाग के अफसर कहते हैं कि दूसरे विभागों की वजह से परेशानियां बढ़ी हैं। सतर्कता बरते जाने के बगैर कार्य होने से पाइप लाइनें क्षतिग्रस्त हो रही हैं, जिससे काम कराना मुश्किल हो रहा है।

नलकूप भी दे रहे हैं जवाब: गर्मी चरम पर होने से पानी का जलस्तर भी काफी नीचे खिसक गया है। इससे नलकूप भी जवाब देने लगे हैं। लोहा पार्क, शिवपुरी मार्ग, काली देवी मंदिर के पीछे, तेलियरगंज में आजाद नगर, सलोरी में ओम गायत्री नगर आदि स्थानों पर लगे नलकूप जवाब दे गए हैं, जिससे पानी की समस्या हो रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

बसपा ने भी तोड़ा नाता, राहुल की एक और सियासी चूक, बीजेपी के लिए संजीवनी

बसपा अध्यक्ष मायावती ने कांग्रेस की बजाय अजीत जोगी के