उन्होंने कहा कि आतंकवादी हमले के कुछ घंटों बाद ही संयुक्त अरब अमीरात-समर्थित यमन की सेना हजर घाटी में घटनास्थल पर भेजी गई थी. समाचार एजेंसी सिन्हुआ को एक सूत्र ने पुष्टि कर बताया कि हमले के बाद से कई सैनिक लापता हैं.