बड़ीखबर: होटल ताज से अपने नए आशियाने पहुंचे अखिलेश यादव, पूजा-पाठ कर किया गृह प्रवेश

यूपी के पूर्व मुख्‍यमंत्री अखिलेश यादव ने नए घर में प्रवेश कर लिया है. यह जानकारी उन्‍होंने ट्वीटर पर दी. अखिलेश यादव ने ऑफिशियल ट्वीटर अकाउंट पर पत्‍नी डिंपल और अपने बच्‍चों संग गृह प्रवेश की पूजा की तस्‍वीर शेयर की है.बड़ीखबर: होटल ताज से अपने नए आशियाने पहुंचे अखिलेश यादव, पूजा-पाठ कर किया गृह प्रवेश

समाजवादी नेता और राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का नया ठिकाना अंसल के न्यू टाउनशिप में बनी सुशांत गोल्फ सिटी का एक विला है, जिसका मकान नंबर  C/02/0190 है. आज गृह प्रवेश की पूजा भी हुई और सबके आशीर्वाद से नये घर में प्रवेश का शुभ-कार्य भी संपन्न हुआ.

मुलायम का छोटा मकान

इसी सुशांत गोल्फ सिटी के इलाके में अखिलेश यादव के कुछ घर के बाद मुलायम सिंह यादव का भी घर है, जहां वह शिफ्ट हो चुके हैं. उनके सुरक्षा के तमाम इंतजाम भी बाहर दिखाई दे रहे हैं. यह वीला भी अखिलेश के जैसा ही है, लेकिन इसकी तैयारियां साधारण हैं.

अखिलेश यादव और मुलायम सिंह दोनों के नए मकान विक्रमादित्य मार्ग में ही बनने को प्रस्तावित हैं. अखिलेश अगले 2 सालों तक सुशांत सिटी के इसी मकान में रहेंगे, जब तक विक्रमादित्य मार्ग में उनका निजी मकान बनकर तैयार नहीं हो जाता. पास में ही मुलायम सिंह यादव की भी जमीन है वहां भी एक नए मकान बनाने की तैयारी चल रही है. ऐसे में राजनीति के दिग्गज पिता-पुत्रों को कुछ साल शहर से दूर सुशांत गोल्फ सिटी में गुजारने होंगे. अखिलेश इससे पहले लखनऊ के ही होटल ताज में रह रहे थे.

बता दें कि अखिलेश यादव पर सरकारी बंगले को छोड़ने के बाद तोड़फोड़ के आरोप लग रहे हैं.  हालांकि इन आरोपों पर उन्‍होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस भी किया था. अखिलेश यादव ने कहा कि वो घर मुझे मिलने जा रहा था, इसलिए मैंने उसे अपने तरीके से बनाने का काम किया था. अखिलेश ने कहा कि आपने मेरे घर की टोंटी दिखाई, क्या मुख्यमंत्री के OSD वहां पर गए थे और उनके अलावा भी कई IAS ने वहां का दौरा किया था.

अखिलेश ने कहा कि मेरे घर में मंदिर देखकर लोगों को जलन हो रही है. कुछ लोग जलन में अंधे हो गए हैं. उन्होंने कहा था कि जिस समय ये घर हमें मिला था, काफी हालत ठीक नहीं थी पिछले एक-साल में मैंने काम करवाया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

स्वच्छ्ता अभियान में जूट के बैग बांट रहे डॉ.भरतराज सिंह

एसएमएस, लखनऊ के वैज्ञानिक की सराहनीय पहल लखनऊ