वाजपेयी के निधन बोले अखिलेश, एक महान जीवन का हुआ अंत, लेकिन प्रेरणा सदा जीवित रहेगी

लखनऊ: पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का लंबी बीमारी के बाद गुरुवार को निधन हो गया. वह 93 वर्ष के थे. यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ ने जहां वाजपेयी के निधन पर सात दिन के राष्ट्रीय शोक घोषणा की है. वहीं यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने भी अटल बिहारी वाजपेयी को श्रद्धांजलि दी है. अखिलेश ने ट्वीट कर लिखा है… एक महान जीवन का अंत, लेकिन एक प्रेरणा जो सदा जीवित रहेगी. अटल जी को हमारी भावपूर्ण श्रद्धांजलि!

राजकीय शोक के तहत आज प्रदेश के सभी सरकारी कार्यालय और स्कूल, कालेज बंद रहेंगे. राज्य सरकार के एक प्रवक्ता ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने वाजपेयी के निधन पर राज्य में सात दिन के राजकीय शोक की घोषणा की है. इस दौरान सभी सरकारी भवनों पर राष्ट्रीय ध्वज आधे झुके (हाफ मास्ट) रहेंगे. वाजपेयी के सम्मान में प्रदेश में राजकीय अवकाश घोषित किया गया है.

बता दें कि स्वास्थ्य संबंधी समस्या की वजह से लगभग एक दशक से सार्वजनिक जीवन से दूर 93 वर्षीय पूर्व प्रधानमंत्री को मूत्र मार्ग में संक्रमण की वजह से 11 जून को अस्पताल में भर्ती कराया गया था. अस्पताल ने अपने बयान में कहा, “उन्होंने अपनी अंतिम सांस शाम 5:05 बजे ली.”

ऐसा था सियासी सफर

वाजपेयी 3 बार प्रधानमंत्री रहे. वह पहली बार 1996 में प्रधानमंत्री बने और उनकी सरकार सिर्फ 13 दिनों तक ही चल पाई थी. वर्ष 1998 में वह दूसरी बार प्रधानमंत्री बने, तब उनकी सरकार 13 महीने तक चली थी. 1999 में वाजपेयी तीसरी बार प्रधानमंत्री बने और पांच सालों का कार्यकाल पूरा किया.

वाजपेयी को 1971 में बांग्लादेश की स्वतंत्रता के लिए पाकिस्तान पर विजय प्राप्त करने के बाद इंदिरा गांधी को दुर्गा कहकर प्रशंसा करने के लिए भी जाना जाता है. उनमें विदेश नीति मुद्दे की विशिष्ट योग्यता थी और तत्कालीन प्रधानमंत्री नरसिम्हा राव ने उन्हें संयुक्त राष्ट्र मानवधिकार कांफ्रेंस में पाकिस्तान के कश्मीर अभियान का जवाब देने के लिए भारतीय प्रतिनिधिमंडल की अगुवाई करने के लिए चुना था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

‘नमोस्तुते माँ गोमती’ के जयघोष से गूंजा मनकामेश्वर उपवन घाट

विश्वकल्याण कामना के साथ की गई आदि माँ