2019 चुनावों के लिए अखिलेश ने मारा नया दांव, किया साइकिल यात्रा निकलने का विचार

लखनऊ। आगामी लोकसभा चुनाव में अपनी उम्मीदों को परवान चढ़ाने के लिए समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव एक बार फिर साइकिल यात्रा शुरू कर सकते हैैं। सोमवार को इलाहाबाद से आई समाजवादी दलित चेतना साइकिल रैली के यात्रियों को संबोधित करते हुए उन्होंने इस आशय के संकेत दिए हैैं। माना जा रहा है कि मानसून सत्र के बाद वह साइकिल यात्रा से ही चुनावी अभियान की शुरुआत करेंगे।2019 चुनावों के लिए अखिलेश ने मारा नया दांव, किया साइकिल यात्रा निकलने का विचार

लोकतंत्र बचाओ समग्र क्रांति साइकिल यात्रा

गौरतलब है कि 2012 चुनाव से पहले अखिलेश यादव ने लगभग दस हजार किमी की साइकिल यात्रा का नेतृत्व किया था। पार्टी के इस चुनाव चिह्न को लेकर कार्यकर्ता प्रदेश में लगभग सभी स्थानों तक पहुंचे थे। इस बार भी ऐसी ही शुरुआत हो चुकी है और पहले चरण में इलाहाबाद से एक रैली राजधानी में सपा मुख्यालय तक आ चुकी है। इसका दूसरा चरण 28 जुलाई से बलिया से शुरू होगा जिसे लोकतंत्र बचाओ समग्र क्रांति साइकिल यात्रा का नाम दिया गया है। यह यात्रा पूर्वांचल के विभिन्न जिलों से होती हुई पांच अगस्त को जनेश्वर मिश्र पार्क पहुंचेगी जहां अखिलेश यात्रियों को संबोधित करेंगे।

इकिल यात्राओं का शुरुआत 

अखिलेश पार्टी पदाधिकारियों को साइकिल से लोगों तक पहुंच बनाने के निर्देश पहले भी दे चुके हैैं। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय सचिव राजेंद्र चौधरी के अनुसार अभी अखिलेश यादव का कोई कार्यक्रम निर्धारित नहीं हुआ है। पार्टी के फ्रंटल संगठनों ने साइकिल यात्राओं का शुरुआत कर दी है। चूंकि साइकिल ही पार्टी का चुनाव चिह्न है, इसलिए हम उसके जरिए लोगों के बीच पहुंचकर भाजपा सरकार की असफलताओं को बताएंगे।

अखिलेश यादव की नाराजगी

लोकसभा चुनाव होने में अभी करीब-करीब एक साल का समय है। अभी साइकिल यात्रा शुरू करने की सपा की तैयारी अखिलेश यादव से उस बयान में साफ झलकती है जिसमें उन्होंने कहा था कि मोदी और योगी सपा सरकार के कार्यो का शिलान्यास और उद्घाटन करने में लगे हैं। उनके पास अपनी कोई योजना नहीं है। दिल्ली के पांच बजट निकल गए और उत्तर प्रदेश के दो बजट लेकिन, भाजपा सरकार ने जनता को धोखा देने के सिवा कुछ नहीं दिया। पूर्वांचल एक्सप्रेसवे को सस्ता बनता दिखाने के चक्कर में सरकार ने उसके मानकों से खिलवाड़ किया है। पूर्वांचल एक्सप्रेसवे अब छह लेन से ज्यादा का नहीं हो सकता जबकि आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे को आठ लेन तक चौड़ा किया जा सकता है। पूर्वांचल एक्सप्रेसवे को सपा सरकार बलिया तक ले जाना चाहती थी लेकिन, भाजपा सरकार ने गाजीपुर तक रोक दिया। 

19-20 को मध्य प्रदेश दौरा

अखिलेश यादव 19 व 20 जुलाई को मध्य प्रदेश दौरे पर रहेंगे। वह भोपाल में रुक कर वहां की राजनीतिक स्थिति, आगामी विधानसभा चुनाव में पार्टी की संभावनाओं आदि विषयों पर पार्टी पदाधिकारियों से चर्चा करेगें। साथ ही पार्टी की चुनावी तैयारियों का जायजा लेगें। पार्टी प्रवक्ता राजेन्द्र चौधरी ने कहा कि मध्य प्रदेश में पिछले चुनावों में सपा के आधा दर्जन से अधिक विधायक जीत चुके हैं। राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश उत्तर प्रदेश के अतिरिक्त मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, राजस्थान, उत्तराखंड तथा बिहार में भी संगठन की मजबूती के लिए सक्रिय हैं। अखिलेश 19 जुलाई को भोपाल में ही रात्रि विश्राम करेंगे। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

CM योगी का तीखा वार: कहा- अखिलेश की हालत ‘मान ना मान, मैं तेरा मेहमान’ वाली

उत्तर प्रदेश में सत्तारूढ़ भाजपा ने सपा प्रमुख