भाजपा ने कहा- अफसरों को धमकाने से नहीं छिपेगा सच, अखिलेश माफी मांगे

लखनऊ। भाजपा ने सरकारी बंगले में तोड़-फोड़, टोटी और टाइल्स समेत सामान ले जाने पर पूर्व मुख्यमंत्री व सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव द्वारा दी गई सफाई पर चुटकी ली है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. महेंद्र नाथ पांडेय ने कहा कि सपा सुप्रीमों के आचरण से उनकी कलई खुल गई है और अब खिसियाहट में अखिलेश खंबा नोचते हुए कभी सफाई दे रहे तो कभी अफसरों और पत्रकारों को धमका रहे हैं। पर, अफसरों को धमकाने से सच नहीं छिपेगा।भाजपा ने कहा- अफसरों को धमकाने से नहीं छिपेगा सच, अखिलेश माफी मांगे

अखिलेश को जनता से क्षमा मांगना चाहिए

बुधवार को जारी बयान में डॉ. पांडेय ने कहा कि अखिलेश यादव को राजनीतिक शुचिता का उदाहरण पेश करके जनता से क्षमा मांगना चाहिए। उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद सभी पूर्व मुख्यमंत्रियों ने अपने सरकारी बंगले खाली किए लेकिन, कोठी में तोडफ़ोड़ के चलते सिर्फ अखिलेश यादव ही चर्चा में हैं। अखिलेश ऊहापोह में हैं। कभी कह रहे हैं कि उनके बंगला खाली करने के बाद सामान गायब हुआ और कभी कहते कि उन्होंने अपने पैसे से बंगले में सामान लगाया था, जिसे वह ले गए हैं। उन्होंने अखिलेश यादव को नसीहत देते हुए कहा कि सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने के उनके आचरण से प्रदेश की जनता आहत है। अखिलेश यादव को साहस दिखाते हुए अपनी गलती को स्वीकार करना चाहिए और ईमानदारी से सरकारी सामान को वापस करना चाहिए। 

चोर की दाढ़ी में तिनका वाली कहावत अखिलेश पर सही

सरकारी बंगले में तोड़ फोड़ को लेकर भाजपा ने सपा अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव पर हमला बोला है। भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता डॉ. चंद्रमोहन ने कहा कि अखिलेश यादव पर चोर की दाढ़ी में तिनका वाली कहावत सही साबित हो रही है। पूर्व मुख्यमंत्री के तौर पर मिले सरकारी बंगले में तोडफ़ोड़ करने के बाद अखिलेश यादव अपनी गलती छिपाने के लिए तरह-तरह के ढोंग कर रहे हैं। उन्हें तो जनता के सामने मिसाल पेश करनी चाहिए और तोडफ़ोड़ की बजाय ऐसी स्मृतियां छोड़कर जानी चाहिए, जिससे उनकी सकारात्मक सोच जाहिर हो सके। डॉ. चंद्रमोहन भाजपा मुख्यालय में बुधवार को पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। कहा, सरकारी बंगले को नुकसान पहुंचाने से उनकी नकारात्मक सोच जाहिर होती है। 

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

पश्चिमी उप्र में जीत का रसायन खोजेंगे सीएम योगी, संगठन स्तर पर कई बड़े फेर बदल तय

मेरठ । मिशन-2019 को भेदना है तो इसकी