Home > राज्य > हरियाणा > गुरुकुल मामले पर बोले कृषि मंत्री, कहा- संस्था को दोष देना ठीक नहीं

गुरुकुल मामले पर बोले कृषि मंत्री, कहा- संस्था को दोष देना ठीक नहीं

रोहतक : गुरुकुल में बच्चों के साथ कुकर्म का मामला पूरी तरह से गर्मा चुका है, जिसका शोर राजनीतिक गलियारों तक भी पहुंच चुका है। इस मामले में कृषि मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ सम्पर्क परिवेदना समिति की बैठक में रोहतक पहुंचे थे। इस मौके पर उन्होंने बच्चों के साथ कुकर्म के मामले में बयान देते हुए कहा कि भैय्यापुर लाढौत गुरूकुल में यौन शोषण के मामले में मानवीय गलती है, जिसका दोष संस्था को देना ठीक नहीं है। पीडितों ने पुलिस में शिकायत दी है और निष्पक्ष जांच होगी और आरोपियों के खिलाफ कड़ी कारवाई की जाएगी। साथ ही उन्होंने कहा कि देश में दुग्ध उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए कई योजनाएं क्रियान्वित की गई हैं। अब तक लगभग नौ करोड़ रूपए की राशि विभिन्न प्रकार की दुग्ध प्रतियोगिताओं में मालिकों को वितरित की जा चुकी हैं। 

इस मौके पर उन्होंने बताया कि 18 किलो से ऊपर दूध देने वाली भैंस को तीस हजार रूपये का ईनाम दिया जा रहा है। साथ ही जो व्यक्ति 50-50 गायों एवं भैंसों की डेयरी स्थापित करेगा, उसे ब्याजमुक्त ऋण दिया जाएगा। इसके अलावा बछडियों की संख्या बढ़ाने के लिए हिसार में 15 करोड़ रूपये की लागत से लैब बनाई जा रही है। निवारण समिति की बैठक में उन्होंने कई लोगों को शिकायतों का निदान किया।

इससे पहले उन्होंने स्व. पूर्व प्रधान मंत्री अटल बिहारी के याद में स्मृति वृक्ष लगाने योजना का भी शुभारम्भ किया। उन्होंने कहा कि दिवंगत प्रधानमंत्री की स्मृति में प्रदेश के अटल हरियाली अभियान चलाया गया है। इसके तहत प्रत्येक गांव में ज्यादा से ज्यादा पौधारोपण किया जाएगा और पर्यावरण को दूषित होने से बचाया जाएगा। यह योजना ग्रामीणों में वृक्षारोपण के प्रति रूझान बढ़ाएगी। अटल जी को सभी वर्गों के लोग प्ररेणादायी मानते हैं। उन्होंने अजातशत्रु के रूप में कार्य किया। इसलिए यह अभियान प्रदेशभर में बड़े जोश के साथ चलाया जा रहा है। 
धनखड़ ने इस मौके पर सरपंचों व उनके प्रतिनिधियों को वृक्षारोपण भावांजलि के तहत पौधे भी वितरित किए। उन्होंने कहा कि जिला कष्ट निवारण समिति का उद्देश्य पक्षकारों की समस्याओं का समाधान करना है और अधिकारियों को उसी भावनाओं को ध्यान में रखकर अपने दायित्व का निर्वहन करना चाहिए। बैठक में कुल 14 परिवाद रखे गए, जिनमें से नौ परिवादों का मौके पर ही निपटारा किया गया। कृषि मंत्री ने व्यक्तिगत स्तर पर भी लोगों की समस्याएं सुनी और उनका अधिकारियों को समाधान करने के आदेश दिए।

Loading...

Check Also

जेल से बाहर आते ही अजय चौटाला ने किया 'रण' का ऐलान...

जेल से बाहर आते ही अजय चौटाला ने किया ‘रण’ का ऐलान…

 इंडियन नेशनल लोकदल (इनेलाे) के विवाद में आज से नया मोड़ आ गया है।  सोमवार …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com