गजपति के इस्तीफे के बाद बढ़ा सुरेश प्रभु का काम, करना होगा अतिरिक्त काम

- in राष्ट्रीय
वाणिज्य और उद्योग मंत्री सुरेश प्रभु को आज नागरिक उड्डयन मंत्रालय का अतिरिक्त प्रभार दिया गया है। राष्ट्रपति भवन से जारी विज्ञप्ति में बताया गया है कि राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सलाह पर कैबिनेट मंत्री प्रभु को नागरिक उड्डयन मंत्रालय का प्रभार सौंपा है। बता दें कि आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा देने की मांग को लेकर नाराज टीडीपी के मंत्रियों ने केंद्रीय मंत्रिमंडल से अपना इस्तीफा दे दिया था। टीडीपी के अशोक गजपति राजू द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मंत्रिपरिषद छोड़ने के बाद नागरिक उड्डयन मंत्री का पद खाली हो गया था।

 

राजू और टीडीपी के नेता वाईएस चौधरी ने मोदी के मंत्रिमंडल से इस्तीफा दे दिया था क्योंकि पार्टी प्रमुख चंद्रबाबू नायडू ने राष्ट्रीय लोकतांत्रिक गठबंधन सरकार पर वादा खिलाफी का आरोप लगाया था। नायडू आंध्र प्रदेश के लिए विशेष राज्य का दर्जा मांग रहे थे। हालांकि, टीडीपी ने एनडीए को पूरी तरह से नहीं छोड़ा है। बता दें कि बीजेपी द्वारा सुरेश प्रभु को अतिरिक्त प्रभार देने के पीछे उनका आंध्र प्रदेश से राज्यसभा सदस्य होना भी है।   

प्रभु ने इससे पहले रेल मंत्री के रूप में देश सेवा की है। पिछले साल मंत्रिमंडल में फेरबदल के दौरान उन्हें वाणिज्य मंत्रालय सौंपा गया था। पीयूष गोयल ने मंत्रिमंडल फेरबदल के दौरान रेलवे मंत्रालय का पदभार ग्रहण किया है।

सम्बंधित समाचार

You may also like

बड़ी खबर: पीएम मोदी के ड्रीम प्रोजेक्ट बुलेट ट्रेन पर लगा ब्रेक, अब प्रोजेक्ट पर आगे बढ़ने से पहले..

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के बुलेट ट्रेन ड्रीम प्रोजेक्ट को बड़ा