NDA को लगा बड़ा झटका, राबड़ी से मुलाकात के बाद मांझी ने छोड़ा मोदी-नीतीश का साथ

- in बिहार, राज्य

बिहार की सियासत में नई पठकथा लिखी जाने की इबारत शुरू हो गई है. आरजेडी प्रमुख लालू यादव इन दिनों जेल में हैं लेकिन बिहार में सियासी उठापटक तेज है. लालू की गैरमौजूदगी में पार्टी का काम उनके बेटे तेजस्वी यादव और पत्नी राबड़ी देवी देख रही है. राज्य की राजनीति में एक बड़ा उलटफेर हुआ है. बुधवार को राबड़ी देवी और पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी के बीच बैठक हुई. इसके बाद जीतनराम मांझी ने NDA का साथ छोड़ने का ऐलान किया.

जीतन राम मांझी के एनडीए के साथ छोड़ने के बाद ही लालू यादव के बेटे तेजश्वी यादव उनसे मुलाकात करने के लिए उनके घर पहुंचे हैं. सूत्रों की माने तो तेजस्वी ने मांझी को आरजेडी के साथ आने का न्यौता दिया है. आरजेडी के साथ वो जाने के लिए पूरी तरह से तरह है. सूत्रों की माने तो RJD-HAM गठबंधन का औपचारिक ऐलान बाकी है.

बता दें कि पिछले साल पीएम नरेंद्र मोदी ने नीतीश कुमार को महागठबंधन से अलग कर अपने साथ मिलाकर लालू यादव को बड़ी राजनीतिक मात दी थी. ऐसे में आरजेडी भी मोदी से हिसाब बराबर करने की तैयारी में है. आरजेडी ने बीजेपी के सहयोगी दल HAM को मिलाने की कवायद की है. माना जा रहा है कि 2019 के लिए गठबंधन करने के लिए राबड़ी देवी और पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी के बीच मीटिंग हुई.

आरजेडी नेता ने दिए थे संकेत

राजद के वरिष्ठ नेता रघुवंश प्रसाद सिंह ने पिछले दिनों दावा किया था कि मोदी सरकार में केंद्रीय राज्यमंत्री और राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा और पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी लालू प्रसाद की पार्टी के साथ हाथ मिलाने की योजना बना रहे हैं. रघुवंश ने पूरे दावे के साथ कहा था कि सारी प्रक्रियाएं अंदरूनी तौर पर चल रही हैं. आज की बैठक रघुवंश प्रसाद सिंह के दावे को मजबूत कर रहा है.

You may also like

कांग्रेस का दलित-सवर्ण कार्ड में नहीं विश्वास : मदन मोहन

पटना। तकरीबन 11 महीने के लंबे अंतराल के बाद