पति को खोने के बाद पत्नी ने बनवा डाला मंदिर, अब करती हैं पूजा…

पति-पत्नी का रिश्ता प्यार और भरोसे का रिश्ता होता हैं। हिन्दू धर्म में पत्नी अपने पति को परमेश्वर क रूप में मानती हैं और उनकी पूजा करती हैं। आज इस कड़ी में हम आपको एक ऐसी महिला के बारे में बताने जा रहे हैं जिसने असल में अपने पति को परमेश्वर मानते हुए उसका मंदिर बना डाला और पूजा करती हैं। यह मामला हैं आंध्र प्रदेश के प्रकाशम जिले का जहां महिला ने चार साल पहले अपने पति को खोने के बाद मंदिर बनवाकर अपने पति की पूजा करनी शुरू कर दी।

यह मामला आंध्र प्रदेश के प्रकाशम जिले का है। यहाँ अंकिरेड्डी और पद्मावती शादी के बाद हंसी-खुशी रह रहे थे, लेकिन दुर्भाग्य से चार साल पहले एक दुर्घटना में अंकिरेड्डी की मृत्यु हो गई। उसके बाद पद्मावती समय बीतने के साथ भी अपने पति को नहीं भूल सकी। ऐसे में उन्होंने अपने पति का मंदिर बनवा लिया और उसमे पति की मूर्ति लगा दी। अब वह यहां आकर हर दिन अंकिरेड्डी की पूजा करती हैं।

वहीँ जब पद्मावती से उनके मृत पति का मंदिर बनाने का कारण पूछा गया, तो उन्होंने कहा, ‘उनकी मौत के कुछ दिनों बाद अंकिरेड्डी ने उनके सपने में दर्शन दिए। अंकिरेड्डी ने उनके लिए एक मंदिर बनाने को कहा। जिसके बाद पद्मावती ने अपने पति की एक संगमरमर की मूर्ति बनवाई और उसकी पूजा करने लगीं। अब उन्होंने अपने पति अंकिरेड्डी के नाम पर पूरा मंदिर ही बनवा दिया है।’ इसी के साथ पद्मावती का कहना है कि, ‘अंकिरेड्डी के जन्मदिन सहित विशेष दिनों पर यहां पूजा और अभिषेक किया जाएगा।’

Back to top button