मुंबई में भारी बारिश के बाद फैली इस भयानक बीमारी ने ली अबतक 4 लोगों कि जान

- in राष्ट्रीय

मुंबई में बारी बारिश के बाद हर जगह जल जमाव से लोग उबरे भी नहीं थे कि अब एक नया दुश्मन पैर पसार रहा है। यह एक भयानक बीमारी है जिसके कारण अब तक 17 वर्षीय युवक समेत 4 लोगों की मौत हो चुकी है। यह बीमारी इसलिए भी खतरनाक है क्योंकि यह बारिश के बाद फैली है और फिलहाल पूरे देश में भारी बारिश के चलते बाढ़ से हालात पैदा हो गए हैं।

डॉक्टरों ने इस बीमारी का नाम लेप्टोस्पायरोसिस बताया और इसे लेकर अलर्ट भी जारी किया गया है। इस बीमारी से संक्रमित मरीजों ने 24 घंटे के भीतर ही दम तोड़ दिया। इस बीमारी का कारण चूहों को माना जा रहा है और इस कारण कीट नियंत्रण विभाग ने चूहों को मारने के लिए दवा का छिड़काव शुरू कर दिया है। शहर में भरे बारिश के पानी में चूहों का मल-मूत्र मिल जाने से यह बीमारी फैली है।

बाढ़ वाले इलाके ज्यादा प्रभावित

जिस बीमारी ने मुंबई में पैर पसारना शुरू किए हैं वो बाढ़ प्रभावित इलाकों में ज्यादा पाई जाती है। यह असल में मल-मूत्र में पाए जाने वाले लेप्टोस्पायल बैक्टेरिया से फैलती है जो चूहों को होती है और इनके मल में इस बैक्टेरिया की संख्या ज्यादा पाई जाती है और यह बैक्टेरिया मिट्टी में लंबे समय तक जिंदा रह सकते हैं।

संसद के बाद अब बलिया में पीएम मोदी-राहुल को ऐसे मिलवाया गले

ऐसे फैलती है बीमारी

बारिश के बाद चूहों के मल-मूत्र से यह बीमारी ज्यादा फैलती है। पानी के संपर्क में आने के चूहों का मल उसे भी दूषित करता है और ऐसा पानी किसी इंसान के जख्म पर लग जाए तो उसे लेप्टोस्पायरोसिस होने का खतरा होता है। इसके अलावा प्रदूषित पानी पीने से भी यह बीमारी हो सकती है। इस बीमारी के कारण सांस लेने में दिक्कत, फेफड़ों को नुकसान पहुंचने के अलावा लिवर में भी खराबी आती है।

ये हैं लक्षण

बीमारी में प्रभावित व्यक्ति को तेज बुखार, सिरदर्द, ठंड, मांसपेशियों में दर्द, उल्टी, पीलिया, लाल आंखें, पेट दर्द, दस्त आदि हो सकते हैं।

ऐसे करें बचाव

इस बीमारी का इलाज इससे बचाव ही है। कहीं भी जाएं तो गीली जगह में घूमने से बचें खास तौर पर गंदे पानी से दूर रहें। जूते पहने और मधुमेह से प्रभावित लोग खास तौर पर इससे बचें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

सड़क पर चलना हो जाएगा महंगा, पेट्रोल के बाद 14% तक चढ़ सकते हैं CNG के दाम!

सड़क पर चलने वालों के लिए बुरी खबर है.