कुछ इस अनुसार बनेगा ट्राइसिटी प्लानिंग बोर्ड

चंडीगढ़। हरियाणा और पंजाब के बीच चल रहे राजनीतिक मसले सुलझने में भले ही अभी समय लगे, लेकिन हरियाणा सरकार ने एनसीआर की तर्ज पर ट्राइसिटी प्लानिंग बोर्ड बनाने की तैयारी शुरू कर दी है। पंचकूला, मोहाली और चंडीगढ़ को मिलाकर ट्राइसिटी प्लानिंग बोर्ड बनाया जाएगा। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने इसके लिए केंद्र सरकार को पत्र लिखने का निर्णय लिया है। वह केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह के साथ-साथ पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और चंडीगढ़ के प्रशासक व पंजाब के राज्यपाल वीपी सिंह बदनौर को भी सरकारी पत्र लिखेंगे।कुछ इस अनुसार बनेगा ट्राइसिटी प्लानिंग बोर्ड

पंचकूला, चंडीगढ़ और मोहाली के विकास को लगेंगे पंख, हरियाणा सरकार ने शुरू की प्रक्रिया

ट्राइसिटी प्लानिंग बोर्ड बनाने की जरूरत इसलिए पड़ी, क्योंकि कई ऐसे प्रोजेक्ट हैं, जो लंबे अरसे से अटके हुए हैं। उनके शुरू नहीं होने से चंडीगढ़ व मोहाली के साथ-साथ पंचकूला के विकास पर विपरीत असर पड़ रहा है। चंडीगढ़ और पंचकूला के बीच भारी ट्रैफिक रहता है। हाउसिंग बोर्ड चौक पर जाम के कारण लाखों लोगों को आवागमन में काफी दिक्कत होती है।

केंद्रीय गृह मंत्री, पंजाब के सीएम और चंडीगढ़ के प्रशासक को पत्र लिखेंगे मुख्यमंत्री मनोहर लाल

हरियाणा सरकार की योजना चंडीगढ़ रेलवे स्टेशन के नीचे से अंडरपास बनाकर पंचकूला के साथ कनेक्टिविटी देने की योजना है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने इसके लिए जल्द ही मुख्य सचिव डीएस ढेसी को बैठक बुलाने के निर्देश दिए हैं।

मेट्रो चलाने और एयरपोर्ट जाने के लिए कनेक्टिविटी की तैयारी

हरियाणा सरकार चंडीगढ़ से मोहाली व पंचकूला के लिए मेट्रो चलाना चाहती है। यह परियोजना भी लंबे समय से अटकी हुई है। पंचकूला के लोगों के लिए चंडीगढ़ एयरपोर्ट तक की कनेक्टिविटी भी आसान नहीं हैं। इसके अलावा बहुत से अन्य मुद्दे भी ट्राइसिटी प्लानिंग बोर्ड में डिसकस किए जाएंगे।

पंचकूला के विकास को कंसलटेंसी एजेंसी हायर करेगी सरकार

हरियाणा सरकार पंचकूला के योजनाबद्ध विकास के लिए जल्द ही कंसलटेंसी एजेंसी नियुक्त करने जा रही है। एजेंसी सरकार को शहर के विकास के लिए सुझाव देगी।

‘ ट्राइसिटी प्लानिंग बोर्ड बनने से विकास के रास्ते खुलेंगे’

” एनसीआर प्लानिंग बोर्ड की तर्ज पर ट्राइसिटी प्लानिंग बोर्ड बनाने की योजना है। बहुत से ऐसे काम हैं, जो कि बिना बोर्ड के गठन के संभव नहीं हैं। हम जल्द ही केंद्रीय गृह सचिव, पंजाब के सीएम और चंडीगढ़ के प्रशासक को पत्र लिखकर बोर्ड के गठन की प्रक्रिया शुरू कर रहे हैं। इस बोर्ड को केंद्र की ओर से भी आर्थिक मदद मिलेगी। बोर्ड के गठन के बाद पंचकूला, चंडीगढ़ और मोहाली का तेजी से विकास हो सकेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

यूपी: भड़काऊ भाषण देने पर सपा के पूर्व सांसद के खिलाफ मामला दर्ज

बरेली जिला पुलिस ने सपा के पूर्व सांसद वीरपाल