‘आप’ ने कांग्रेस प्रत्याशी लाडी को घेरा, उम्मीदवारी करने की मांग

जालंधर। आम आदमी पार्टी के विधायक व नेता प्रतिपक्ष सुखपाल सिंह खैहरा ने कहा कि शाहकोट उपचुनाव के लिए कांग्रेस के उम्मीदवार हरदेव सिंह लाडी शेरोवालिया पर अवैध माइनिंग मामले में एफआइआर दर्ज होना गंभीर मामला है। आम आदमी पार्टी कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रधान राहुल गांधी से मांग करती है कि शेरोवालिया की उम्मीदवारी रद की जाए।'आप' ने कांग्रेस प्रत्याशी लाडी को घेरा, उम्मीदवारी करने की मांग

खैहरा ने कहा कि राहुल गांधी अपने भाषण में भ्रष्टाचार पर जीरी टॉलरेंस की बात करते हैं, अब वे लाडी की उम्मीदवारी रद कर इसे साबित करें। खैहरा ने कहा कि मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह की यही कोशिश रहेगी कि किसी तरह से लाडी को बचाया जाए। खैहरा ने कहा कि अमरिंदर सिंह पूरी तरह से अपने खासमखास राणा गुरजीत सिंह के रंग में रंग चुके हैं। पहले उन्होंने माइनिंग मामले में राणा को बचाया और अब राणा के खासमखास शेरोवालिया को हर हाल में बचाने की कोशिश करेंगे। इसलिए आम आदमी पार्टी पंजाब व हरियाणा हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस से मांग करती है कि इस मामले की हाईकोर्ट से सीटिंग जज से न्यायिक जांच कराए, ताकि सच सामने आ सके।

पत्रकारों से बातचीत में खैहरा ने कहा कि कई दिनों से वायरल वीडियो में लाडी सरेआम सैटिंग करने और पैसे के लेन देन की बात करते दिखाई दे रहे है, फिर भी कांग्रेस ने उन्हें उम्मीदवार बनाया दिया। अब जब चुनाव अायोग का डंडा चला तो माइनिंग माफिया का साथ दे रहे लाडी पर कानूनी कार्रवाई हुई।

खैहरा ने कहा कि अब पुलिस अपनी जमीर को जिंदा रखने के लिए लाडी को तुरंत गिरफ्तार कर कानूनी कार्रवाई करे। लाडी लंबे समय से शाहकोट के गांव कैंबवाला की खड्ड से ठेकेदारों के साथ मिलकर अवैध माइनिंग को अंजाम देता आ रहा है। आप विधायक ने कहा कि हैरानी की बात है कि शाहकोट हलके में दो लाख से ज्यादा लोग रहते हैं और कांग्रेस को एक भी ईमानदार नेता नहीं मिला, जिसे उम्मीदवार बनाया जा सकता।

अब सरकार ने गुरुओ के इतिहास से छेड़छाड़ की गलती मान ली है

11वीं और 12वीं की किताब से गुरुओं के इतिहास से छेड़छाड़ के मामले पर अमरिंदर सिंह सरकार के बैकफुट आने पर खैहरा ने कहा कि सीएम बार-बार कहते रहे कि कुछ भी गलत नहीं हो रहा। अब उनके ही तीन मंत्रियों ने सामने आकर सरकार की गलती मान ली है। आप नेता ने कहा कि कांग्रेस हाईकमान के इशारे पर गुरुओं के इतिहास को किताबों से हटाया जा रहा है। इसे किसी भी कीमत पर सहन नहीं किया जा सकता। इसकी जांच हो कि यह किससे कहने पर किन अधिकारियों की शह पर किया जा रहा था।

खैहरा ने कहा कि हैरानी की बात है कि मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह को पंजाब भर में से एक भी ऐसा काबिल व्यक्ति नहीं मिला, जिसे पंजाब स्कूल शिक्षा बोर्ड का चेयरमैन लगाया जा सकता। कैप्टन ने एक ऐसे शख्स को चेयरमैन बना दिया जो जीवनभर राजस्थान में नौकरी करता रहा और जिसका पंजाब के साथ लंगे समय तक वास्ता ही नहीं था।

हरसिमरत मजीठिया कालेज का नाम बरकरार रखाए या कुर्सी छोड़े

खैहरा ने कहा कि भाजपा भगवाकरण की नीति के तहत दिल्ली के दयाल सिंह मजीठिया कॉलेज का नाम बदल रही है। भाजपा की सहयोगी पार्टी चुपचाप बैठी तमाशा देख रही है। खैहरा ने कहा कि केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर या तो कॉलेज का नाम बरकरार रख कर दिखाए या फिर कुर्सी छोड़े।

आप नेता ने कहा कि लाहौर में स्थापित काॅलेज का नाम आज भी दयाल सिंह मजीठिया ही है, जबकि दिल्ली के कॉलेज का नाम बदला रहा जा रहा है। केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर कह रहे हैं कि नाम नहीं बदला जाएगा, जबकि कॉलेज के चेयरमैन अमिताभ सिन्हा कह रहे हैं कि नाम हर हाल में बदला जाएगा। अब तक शिरोमणि अकाली दल भी इस मामले में खुलकर सामने नहीं आया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

पेट्रोल की बढ़ी कीमतों को लेकर पैदल मार्च कर रहे कांग्रेसी आपस में भिड़े

कानपुर : डीजल, पेट्रोल और रसोई गैस की