गोरखपुर के दो डाकघरों का एक बड़ा घोटाला आया सामने, डाकर्मियों ने खाताधारकों के खातों से निकाल लिए 75 लाख रुपये….

गोरखपुर में दो डाकघरों में बड़ा घोटाला सामने आया है। उप डाकघर विश्वविद्यालय व कूड़ाघाट डाक घर में खाताधारकों के खाते से कर्मचारियों ने जालसाजी कर 75 लाख रुपये निकाल लिए। जांच में आरोप की पुष्टि होने पर डाक विभाग के अधिकारियों ने विश्वविद्यालय और कूड़ाघर डाक घर के दो कर्मचारी व एक संविदा कर्मचारी पर गबन का मुकदमा दर्ज कराया है।

यहां से निकाले 25 लाख रुपये

विश्वविद्यालय उप डाकघर में हुए रुपये की हेराफेरी के मामले सहायक अधीक्षक केन्द्रीय उप मंडल संतोष कुमार सिंह की तहरीर पर कैंट पुलिस ने डाक सहायक गितेश कुमार पांडेय मुकदमा दर्ज किया है।आरोप है कि 31 दिसंबर 2018 से 12 मार्च 2022 तक डाक सहायक के रूप में काम करते हुए उसने विभिन्न खातों से 25,29,317 रुपये की निकासी कर ली। विभागीय जांच में आरोप की पुष्टि होने पर एसएसपी ने उसे निलंबित कर दिया था।

इनके खिलाफ दर्ज हुआ मुकदमा

वहीं दूसरी तरफ कूड़ाघाट डाकघर में गबन के मामले में निरीक्षक डाकघर पूर्वी उप मंडल सीबी सिंह की तहरीर पर कर्मचारी शैलेन्द्र कुमार और संविदाकर्मी रोहित कुमार पर गबन का मुकदमा दर्ज हुआ है। शैलेन्द्र कुमार निवमनीचक मसौढी पटना के रहने वाले हैं। जबकि रोहित कुमार चौधरी आवास-विकास कालोनी कूड़ाघाट के निवासी हैं। शैलेन्द्र कुमार डाकघार कूड़ाघाट में एक जुलाई 2019 से 15 जुलाई 2021 तक तैनात रहे। उन्हें 15 जुलाई 2021 को निलम्बित किया गया है।

यहां पर हुआ 45 का घोटाला

सीबी सिंह ने अपनी तहरीर में लिखा है कि खाताधारकों के 45,26234 रुपये रोहित चौधरी के सहयोग से शैलेन्द्र कुमार ने गबन कर लिया। शैलेन्द्र ने रुपये रोहित खाते में डालकर निकाल लिए।सीओ कैंट श्यामदेव बिंद ने बताया कि मुकदमा दर्ज कर जांच की जा रही है।

धोखाधड़ी के मामले में मुकदमा दर्ज करने का आदेश: धोखाधड़ी कर 12 लाख रुपया हड़पने के मामले में अपर मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट दीपक नाथ सरस्वती ने कुशीनगर जिले के गांधीनगर,नगरपालिका परिषद, हाटा कोतवाली निवासी जियाउलहक, खोराबार थाना क्षेत्र के बहरामपुर निवासी कमलेश यादव व महादेव झारखंडी टुकड़ा नंबर एक विशुनपुरवा निवासी राजनाथ यादव के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर विवेचना का आदेश थानाध्यक्ष खोराबार को दिया है।

कुशीनगर जिले के कोतवाली हाटा थाना क्षेत्र हरी टोला नगर पालिका परिषद निवासी मल्लू प्रसाद जायसवाल की ओर से संदीप यादव का कहना था कि जियाउलहक व कमलेश यादव भूमि बेचने व खरीदने का काम करते है। वादी ने इन लोगो से न्यू आदर्श सिटी गोरखपुर स्थित मठिया बुजुर्ग में एक प्लाट खरीदा था।जिसका पंजीकृत बैनामा इन लोगो ने उस जमीन के मालिक राजनाथ यादव से वादी की पत्नी के पक्ष में 12 लाख रुपया प्राप्त करके कराया था। वादी जब उस जमीन पर मकान बनवाने गया तो उसे पता चला की उपरोक्त लोगो ने इससे पहले भी उक्त जमीन का बैनामा किसी अन्य व्यक्ति को भी किया था।

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published.

six + fifteen =

Back to top button