इंदौर हादसे में 80 साल की दादी पर एक साल के पोते की जिम्मेदारी

इंदौर। सरवटे बस स्टैंड पर शनिवार रात चार मंजिला होटल ढहने से मृत दस लोगों में से सात की शिनाख्त हो गई है। होटल एमएस नामक यह 50 साल पुरानी इमारत बस स्टैंड के ठीक सामने चौराहे पर बनी थी। दो पुरुष व एक महिला का शव अज्ञात है। शहर के इतिहास का यह सबसे भयावह हादसा शनिवार रात 9 बजकर 14 मिनट पर हुआ। प्रशासनिक अफसरों ने हादसे का कारण एक कार का इमारत के पिलर के टकराने से होना बताया है।इंदौर हादसे में 80 साल की दादी पर एक साल के पोते की जिम्मेदारी

हादसे में मरने वालों में हरीश पिता गणेशप्रसाद सोनी (65) निवासी स्कीम 71, आनंद पिता बसंतीलाल पौडवाल (27) निवासी जवाहर मार्ग (नागदा), राजू उर्फ पप्पू पिता रतनलाल सेन (40) निवासी रुस्तम का बगीचा, राकेश पिता मांगीलाल राठौर (26) निवासी नंदबाग कॉलोनी (बाणगंगा), शंकर पिता संतोष दुबे (25) निवासी चंद्रविहार कॉलोनी उमरिया (किशनगंज), सत्यनारायण पिता रामानंद चौहान (60) निवासी लुनियापुरा व सिमरन दीवान (23) निवासी बुरहानपुर हैं। घायल महेश व धर्मेंद्र का अस्पताल में इलाज चल रहा है।

हादसे में मृत राजू के परिजन ने बताया राजू ने राजस्थान की शिवानी से प्रेम विवाह किया था। उनका एक साल का बेटा शिवाय है। एक माह पहले ही आपसी कहासुनी के बाद शिवानी बेटे को घर छोड़कर कहीं चली गई। उसे अब उनकी 80 साल की मां खुम्नीबाई है, जिन पर पोते की जिम्मेदारी है।

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button