Home > राज्य > दिल्ली > 7 मर्डर कर चुके संपत का अगला निशाना थे सलमान खान, यूं बची बजरंगी ‘भाई जान’ की जान

7 मर्डर कर चुके संपत का अगला निशाना थे सलमान खान, यूं बची बजरंगी ‘भाई जान’ की जान

दिल्ली और हरियाणा पुलिस ने पिछले एक पखवाड़े के दौरान खूंखार और इनामी बदमाशों के खिलाफ जो बड़ी कार्रवाई कीं (इनमें एनकाउंटर तक शामिल हैं), इसके बाद नए-नए खुलासे हो रहे हैं। हैदराबाद से पिछले दिनों गिरफ्तार गैंगस्टर संपत नेहरा फिल्म अभिनेता सलमान खान को मारना चाहता था। जानकारी सामने आ रही है कि इस बाबत उसने मुंबई में दो-तीन दिनों तक सलमान के घर की रेकी भी की थी, हालांकि कड़ी सुरक्षा के चलते वह अपने मंसूबों में असफल रहा।  पुलिस के मुताबिक, नेहरा ने मुंबई जानकर सलमान खान के आने-जाने का समय और उनके सुरक्षाकर्मियों के बारे में जानकारी ली थी।7 मर्डर कर चुके संपत का अगला निशाना थे सलमान खान, यूं बची बजरंगी 'भाई जान' की जान

छले दिनों स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) संपत को लेकर गुरुग्राम पहुंची, जहां पूछताछ में उसने यह सनसनीखेज जानकारी दी। वहीं, प्रेस कॉन्फ्रेंस में एसटीएफ डीआइजी बी. सतीश बालन ने बताया कि राजस्थान के चूरू जिले के गांव कालोरी निवासी संपत नेहरा लॉरेंस बिश्नोई गैंग का कुख्यात बदमाश है।

गैंग के सरगना ने सलमान खान को धमकी दी थी। उसके जेल जाने के बाद संपत नेहरा इसे अंजाम देने में जुट गया। डीआइजी के अनुसार पूछताछ में संपत ने स्वीकार किया है कि वह नौकरी के बहाने मुंबई गया था। वहां उसने फिल्म अभिनेता सलमान खान की हत्या के इरादे से उनके घर की रेकी की थी।

हैदराबाद में गैंग के सरगना ने ही संपत के रुकने की व्यवस्था की थी। डीआइजी ने बताया कि संपत ने स्वीकार किया है कि वह अब तक सात हत्याएं कर चुका है।

सलमान खान की हत्या के बाद विदेश भागने की फिराक में था संपत

बता दें कि संपत नेहरा लॉरेंस बिश्नोई गैंग के लिए काम करता है, जिसने जनवरी 2018 में सलमान खान को जान से मारने की धमकी दी थी। न्यूज एजेंसी एएनआइ की मानें तो लॉरेंस बिश्नोई ने काला हिरण शिकार मामले में सलमान खान को जान से मारने की धमकी दी थी। इसके बाद नेहरा ने मुंबई जाकर अभिनेता की गतिविधियों की रेकी की और काम खत्म होने के बाद वह विदेश जाने की प्लानिंग कर रहा था। हैदराबाद पुलिस ने नेहरा को 6 जून को गिरफ्तार किया था।

जानकारी के मुताबिक, संपत नेहरा के खिलाफ हरियाणा, पंजाब, राजस्थान और चंडीगढ़ में आपराधिक मामले दर्ज हैं। फरार चलने की वजह से संपत नेहरा पर नकद ईनाम घोषित किया गया था। राजस्थान के चुरू जिले के कलौरी गांव का निवासी गैंगस्टर लारेंस विश्नोई गिरोह का शार्प शूटर था। वह छात्र राजनीति में भी सक्रिय रहा है।

जानें किस खतरनाक गैंग से जुड़ा था संपत

पुलिस ने बताया कि लारेंस विश्नोई गिरोह एक खतरनाक गिरोह है। गिरोह फेसबुक और व्हाट्सअप जैसे सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर काफी सक्रिय रहता है। यह भी पता चला है कि संपत नेहरा और उसका गिरोह इनेलो नेता के भाई हत्या की कोशिश में शामिल रहा है। 

Loading...

Check Also

लोकसभा चुनाव 2019: मंत्री सत्येंद्र जैन बोले- पप्पू को नहीं, केजरीवाल को वोट देना

दिल्ली में आम आदमी पार्टी 2019 लोकसभा चुनाव की तैयारियों में बीजेपी और कांग्रेस से …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com