6 महीने की मासूम बच्ची के सामने हो गयी पूरे परिवार की मौत, खबर पढ़ भर गया दिल

आज हम आपको एक ऐसी दिल दहला देने वाली खबर से रूबरू करवाने वाले है, जिसके बारे में जान कर यक़ीनन आपके रोंगटे खड़े हो जायेंगे. बता दे कि ये खबर लुधियाना से आयी है. गौरतलब है कि लुधियाना फिरोजपुर रोड पर चंडीगढ़ के रहने वाले एक वकील की आई 20 कार डिवाइडर क्रॉस करने के बाद सामने से आ रहे एक ट्रक से टकरा गयी. जिसके चलते इस हादसे में वकील सुदर्शन पुंचि, उनकी पत्नी और मासूम बेटे की मौके पर ही मौत हो गई. वही कार की पिछली सीट पर उनकी नौकरानी काजल बैठी थी. जो बुरी तरह से घायल हो गयी. हालांकि उसकी भी अस्पताल पहुँचने के बाद मौत हो गई.

6 महीने की मासूम बच्ची के सामने हो गयी पूरे परिवार की मौत, खबर पढ़ भर गया दिल मगर आपको जान कर ताज्जुब होगा कि उनकी नौकरानी की गोद में उनकी छह महीने की मासूम बच्ची ध्वनि भी मौजूद थी. जिसे इस हादसे में खंरोच तक नहीं आई. यानि वो एकदम सुरक्षित है. गौरतलब है कि वकील सुदर्शन जी अपने परिवार के साथ अपनी पत्नी के मामा जी के अंतिम अरदास के लिए जा रहे थे. जी हां ये सब लोग सुबह करीब छह बजे निकले थे. जहाँ एक तरफ वकील साहब खुद गाडी चला रहे थे, वही दूसरी तरफ उनका बेटा ध्रुव उनकी पत्नी सीमा की गोद में बैठा था. वही पिछली सीट पर उनकी नौकरानी और बच्ची बैठी थी. बस इसी दौरान उनकी गाडी के सामने एक ट्रक आ गया. जिसके चलते बच्ची को छोड़ कर सब की मौत हो गई.

हालांकि इस बारे में एसएचओ इंद्रजीत सिंह और बस स्टैंड के इंचार्ज बलजिंद्र सिंह का कहना है कि गाडी की स्पीड करीब सौ से ज्यादा थी और इस दौरान ड्राइवर की आंख भी लग गयी थी. जिसके कारण ये हादसा हो गया. गौरतलब है कि पूरे परिवार के खत्म हो जाने के बाद नन्ही सी जान ध्वनि एक दम अकेली हो गयी थी और वो भूख के मारे रो रही थी. ऐसे में जिस अस्पताल में ध्वनि को ले जाया गया था, वहां एक महिला ने अपने बच्चे को जन्म दिया था और ध्वनि को चुप करवाने के लिए उसने ही उसे अपना दूध भी पिलाया.

जी हां उस महिला का नाम चंचल रानी है और उसने इंसानियत दिखाते हुए उस मासूम सी बच्ची को अपना दूध पिलाया. बता दे कि दूध पीने के बाद ध्वनि चैन से सो गई और उसके बाद ध्वनि को ले जाने के लिए उसकी मौसी गीतांजलि वहां आ गयी. आपको जान कर ताज्जुब होगा कि ये हादसा इतना भयानक था कि इस हादसे में कार का ऊपरी हिस्सा बुरी तरह से उड़ गया. हालांकि इतना भयानक हादसा होने के बाद भी बच्ची को कुछ नहीं हुआ. ऐसे में हम तो यही कहेगे कि उस बच्ची पर वास्तव में भगवान् का ही हाथ था.

बरहलाल हम दुआ करते है कि भगवान् इस बच्ची को सारी खुशियां दे और इसके परिवार वालो की आत्मा को शांति दे.

 
Loading...

Check Also

रणजी ट्रॉफीः रजत भाटिया और वैभव के अर्द्धशतक से उत्तराखंड मजबूत

रणजी ट्रॉफीः रजत भाटिया और वैभव के अर्द्धशतक से उत्तराखंड मजबूत

रणजी का दूसरा मैच खेल रही उत्तराखंड की टीम ने दूसरे दिन शानदार वापसी की। …

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com