दिल्ली मेयर प्रीति अग्रवाल के खिलाफ AAP ने CBI को सौंपी 6 शिकायतें

- in दिल्ली, राज्य

आम आदमी पार्टी ने एमसीडी की नॉर्थ दिल्ली मेयर प्रीति अग्रवाल के खिलाफ सीबीआई में शिकायत दर्ज की है. करीब 6 मामलों में आरोप लगाते हुए ‘आप’ नेताओं ने सीबीआई जांच की मांग की है और बीजेपी से मेयर के इस्तीफे की मांग की है. भ्रष्टाचार के आरोप में इससे पहले भी आम आदमी पार्टी मेयर के खिलाफ प्रदर्शन कर चुकी है.

आम आदमी पार्टी ने 6 मामलों में भ्रष्टाचार का आरोप लगाया है. इन्हीं आरोपों को आधार बनाकर उत्तरी दिल्ली नगर निगम में नेता विपक्ष और आम आदमी पार्टी के पार्षद राकेश कुमार ने प्रीति अग्रवाल के खिलाफ सीबीआई में शिकायत की है.

इन 6 मामलों में की गई है प्रीति अग्रवाल के खिलाफ CBI में शिकायत:

1. बहुचर्चित टेंडर घोटाला जिसमें मेयर साहिबा ने अनाधिकृत तौर पर कमरे में घुसकर टेंडर की प्रक्रिया को प्रभावित करके उस ठेके को अपने फेवर की कंपनी को दिलाने की कोशिश की. जिसके तहत अपने पसंदीदा ठेकेदारों को पार्किंग साइट्स को दिलाने की कोशिश मेयर की तरफ से हुई.

2. दूसरा मामला एक बड़े टेंडर से जुड़ा है, जहां शहनाई बैंक्वेट हॉल को कम लीज मूल्य पर दिए जाने का मामला है. यहां भारी अनियमितताएं बरती गईं और निगम के कोष को नुकसान पहुंचाया गया.  

3. सरस्वती स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स के संचालन एंव रख- रखाव के लिए दिए जाने वाले ठेके में घोटाला.

4. ठोस कूड़े को एकत्रित करके सेनेटरी लैंडफिल साइट तक पहुंचाने के लिए दिए गए ठेके की अवधि 3 वर्ष पहले खत्म हो जाने के बावजूद भी 3-3 महीने के लिए ठेके का विस्तार करते हुए अभी तक जारी रखने में किए जा रहे घोटाले का मामला.

5. रिठाला मेट्रो स्टेशन के नजदीक मैसर्स ए.पी. वंडर्स द्वारा बनाई जा रही बहुमंजिला इमारत में ऊपर की तीन मंजिलों का अवैध रूप से निर्माण करवाए जाने में भ्रष्टाचार.

6. पीतमपुरा स्थित शिवा मार्केट में पार्किंग बनाने के लिए प्लॉट के ई-ऑक्शन में हुए घोटाले का मामला.

‘आप’ प्रवक्ता दिलीप पांडेय ने बताया कि आम आदमी पार्टी ने इन सभी बिंदुओं समेत मेयर से जुड़े दूसरे भ्रष्टाचार के मामलों की सीबीआई से शिकायत की है. पांडेय ने कहा, ‘हम उम्मीद करते हैं कि जिस प्रकार से आम आदमी पार्टी के खिलाफ बिना सुबूत के ही तमाम जांच एजेंसियां तुरंत सक्रिय हो जाती हैं और कार्रवाई करती हैं ठीक उसी तरह से अब उत्तरी नगर निगम में मेयर और भाजपा नेता के खिलाफ भी उतनी ही तत्परता से एक्शन में आते हुए कार्रवाई करेगी.’

दिलीप पांडेय ने बीजेपी को चुनौती देते हुए कहा कि, ‘अगर बीजेपी को लगता है कि भ्रष्टाचार नहीं हुआ है तो बीजेपी उत्तरी दिल्ली नगर निगम की मेयर प्रीति अग्रवाल को मेयर पद पर दोबारा नियुक्त करके दिखाए और अगर बीजेपी मेयर पद पर प्रीति अग्रवाल को रिपीट नहीं करती है तो क्या ये मान लिया जाए कि नए चेहरे और नई उड़ान के नाम पर बीजेपी ने दिल्ली के लोगों को धोखा दिया है? बीजेपी ये माने कि उसने जनता से विश्वासघात किया है जिसके लिए बीजेपी दिल्ली की जनता से माफी मांगे.’

You may also like

बसपा ने भी तोड़ा नाता, राहुल की एक और सियासी चूक, बीजेपी के लिए संजीवनी

बसपा अध्यक्ष मायावती ने कांग्रेस की बजाय अजीत जोगी के