जम्मू-कश्मीर में LOC पर तीन साल में 581 आतंकियों का किया सफाया

- in कश्मीर

सुरक्षा बलों ने जम्मू-कश्मीर में भारत-पाकिस्तान सीमा पर और एलओसी पर सीजफायर के उल्लंघन में साल 2015 से अब तक 581 आतंकी मार गिराए। वहीं 69 सुरक्षाकर्मी भी मारे गए। यह जानकारी रक्षा राज्यमंत्री सुभाष भामरे ने बुधवार को लोकसभा में दी। लोकसभा में एक सवाल के लिखित जवाब में भामरे ने कहा, ‘साल 2015 में 108 आतंकी मारे गए।

साल 2016 में 150 और साल 2017 में 213 आतंकियों मारे गए। साल 2018 (22 जुलाई तक) में 110 आतंकी मारे जा चुके हैं।’ उन्होंने कहा कि 2015 से सीजफायर के उल्लंघन में सेना के 44 और बीएसएफ के 25 जवान अपनी जान गंवा चुके हैं। इस साल मई में भारत और पाकिस्तान के सैन्य अभियान के महानिदेशक (डीजीएमओ) एलओसी पर शांति बहाल करने पर सहमत हुए थे।

रमजान सीजफायर के दौरान पत्थरबाजी की घटनाओं में कमी
केंद्रीय मंत्री हंसराज गंगाराम अहीर ने बुधवार को कहा कि रमजान के महीने में सीजफायर के दौरान जम्मू-कश्मीर में पत्थरबाजी की घटनाओं में कमी आई।  केंद्रीय मंत्री ने कहा कि केंद्र ने 16 मई को सुरक्षा बलों और सेना को राज्य में रमजान के महीने के दौरान हिंसक अभियान नहीं चलाने का निर्देश दिया था।

राज्यसभा में एक सवाल के लिखित जवाब में अहीर ने कहा कि 17 मई 2018 से 17 जून 2018 को दौरान जम्मू-कश्मीर में पत्थरबाजी की 117 घटनाओं की खबर मिली।  जबकि 15 अप्रैल से 16 मई 2018 के दौरान पत्थरबाजी की 219 घटनाएं हुई थीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

सेना प्रमुख बिपिन रावत ने कहा- आतंकियों के खिलाफ एक और सर्जिकल स्ट्राइक की जरूरत

हमारे सैनिकों के खिलाफ आतंकवादियों और पाकिस्तानी सेना