Home > बड़ी खबर > चीन भेजी जा रही पतंजलि की 50 टन चंदन की लकड़ी हुई जब्त, ये क्या रामदेव भी निकला स्मगलर

चीन भेजी जा रही पतंजलि की 50 टन चंदन की लकड़ी हुई जब्त, ये क्या रामदेव भी निकला स्मगलर

नई दिल्ली : पूरी दुनिया को पतंजलि आयुर्वेद से पहचान कराने वाले रामदेव बाबा को लोगों ने उस वक्त स्मगलर कह दिया जब कस्टम विभाग ने चीन भेजी जा रही पतंजलि की 50 टन चंदन की लकड़ियां जब्त की।

चीन भेजी जा रही पतंजलि की 50 टन चंदन की लकड़ी हुई जब्त, ये क्या रामदेव भी निकला स्मगलर दरअसल, कस्टम विभाग को इस बात का शक था कि पतंजलि बेहतर क्वालिटी की ‘ए’ और ‘बी’ ग्रेड की चंदन की लड़की को चीन भेज रहा है। जिसे एक्सपोर्ट करने की इजाजत नहीं है। खबर के मुताबिक, अधिकारियों ने इस बात की तह तक जाने के लिए अपनी कार्रवाई तेज की और DRI और कस्टम्स विभाग ने पतंजलि की 50 टन चंदन लकड़ी जब्त कर ली।

बता दें कि देश में आयुर्वेदिक प्रोडक्ट्स बनाने वाली बाबा रामदेव की कंपनी पतंजलि, 50 टन लाल चंदन की लकड़ी को चीन एक्सपोर्ट करने के मामले में दिल्ली हाईकोर्ट पहुंची है। जहां पतंजलि ने हाईकोर्ट से DRI को उसका माल छोड़ने का आदेश जारी करने का अनुरोध किया है।

वहीं चंदन की लड़की जब्त होने के बाद पतंजलि ने लगे सारे आरोपों को खारिज कर दिया है। पतंजलि के प्रवक्ता का कहना है कि वो कोई गैरकानूनी काम नहीं कर रहे हैं। यह लकड़ी सी ग्रेड की है और इन्हें आसानी एक्सपोर्ट किया जा सकता है। इन लड़कियों को एक्सपोर्ट करनी की इजाजत है।

उन्होंने आगे बताया कि ये लकड़ियां APFDCL (आंध्र प्रदेश फॉरेस्ट डिवेलपमेंट कॉर्प) से खरीदी है। एक्सपोर्ट में लगने वाले सभी कागजातों को भी आंध्र प्रदेश फॉरेस्ट डिवेलपमेंट कॉर्प से जांच करवाया गया है।

वहीं पतंजति की बातों को नकारते हुए अधिकारियों का कहना है कि, अच्छे क्वालिटी वाली चंदन की लकड़ियों को सी ग्रेड के चंदन की लकड़ियों के साथ भेजा जा रहा था। फिलहाल एक्सपोर्ट रोक दिया गया है और जब तक जांच पूरी नहीं हो जाती तब तक एक्सपोर्ट नहीं किया जाएगा।

बता दें कि इस खबर के बाद लोगों ने ट्विटर पर जमकर बाबा रामदेव का मजाक उठाया। लोगों ने चंदन की लड़की चीन भेजने के आरोप में उन्हें स्मगलर तक कह दिया।

Loading...

Check Also

ड्रोन चलाने वाले लोगों के लिए डीजीसीए ने बनाए कड़े नियम...

ड्रोन चलाने वाले लोगों के लिए डीजीसीए ने बनाए कड़े नियम…

यदि आप ड्रोन चलाने की इच्छा रखते हैं तो जरा संभल जाइये क्योंकि अब इसे …

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com