48 फीसदी भारतीयों को सुबह उठते ही लगती है सिगरेट, शोध में हुआ खुलासा

स्मोकिंग करना बहुत से लोगों को अच्छा लगता है. इससे आपको किंतनी बीमारियां हो सकती है ये भी जानते हैं लेकिन फिर भी आप इससे बाज़ नहीं आते. कैंसर के खतरे और निकोटीन से होने वाले नुकसान को कम करने के प्रयासों को समझने के लिए व्यापक अध्ययन किए जाते रहे हैं. इसी शोध में एक खुलासा हुआ है जिसके नुकसान बहुत हैं. दरसल, एक अध्ययन के मुताबिक 14 देशों के 48 फीसदी भारतीयों को सुबह जागने के बाद सिगरेट की तलब लगती है. इसके अलावा ये जानकारी मिली है कि “केंटर द्वारा किए गए एक सर्वेक्षण के अनुसार, 14 देशों के 48 फीसदी भारतीयों को सुबह जागने के बाद सिगरेट की तलब लगती है. हैरानी की बात है कि केवल 60 फीसदी भारतीयों ने अपनी धूम्रपान की लत को स्वीकार किया है.”
शोध में ये भी कहा गया है कि भारत में धूम्रपान की आदतों के मौजूदा परिदृश्य और भारत में स्वास्थ्य परिस्थितियों को ध्यान में रखकर सरकार को स्वस्थ विकल्पों के माध्यम से परिवर्तन लाने के लिए अपने सोच को विस्तारित करने की जरूरत है.” वहीं केंद्र सरकार ने इसे नियमित करने की दिशा में काम करने के बजाए ई-सिगरेट पर प्रतिबंध लगाने के अपने इरादे का खुलासा किया है. आपकी जानकारी के लिए बता दें कि कई विकसित देशों में ई-सिगरेट लोकप्रिय है, क्योंकि सरकार इसे तम्बाकू सिगरेट के लिए एक सुरक्षित विकल्प के रूप में देखती है.
एआरएसईई मेडिकल रिसर्च सेंटर में पल्मोनोलॉजिस्ट और मेडिकल डायरेक्टर डॉ विकास पुनामिया ने कहा, “धूम्रपान करने वालों को पता है कि तंबाकू हानिकारक व नशे की लत है और वह धूम्रपान न करने वाले की तुलना में खुद को स्वास्थ्य के मामले में कमजोर भी मानते हैं. फिर भी वे धूम्रपान न करने वालों की तरह सक्रियता से अपने डॉक्टरों से नहीं जुड़े हैं.” यानि आपको स्मोकिंग से कितनी बड़ी और खतरनाक हो सकती है जिसके बारे में आप सोच भी नहीं सकते.

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button