46 फतवे सुन लगा था बड़ा झटका, फूट-फूट कर रोई थी उस रात: नाहिद आफरीन

असम की युवा गायिका और बॉलीवुड फिल्म ‘अकीरा’ में अपने गाने से धूम मचाने वाली नाहिद आफरीन ने बताया है कि खुद के खिलाफ 46 से ज्यादा फतवे जारी होने पर उन्हें बड़ा झटका लगा था और इस खबर ने उन्हें बेहद डरा दिया था.नाहिद ने न्यूज18 से खास बातचीत में कहा, ‘जब मुझे मंगलवार रात इस फतवे के बारे में पता चला तो मुझे बहुत बड़ा शॉक लगा. मेरे मम्मी-पापा भी थोड़ी देर के लिए डर गए थे, क्योंकि ऐसी स्थिति का हमने कभी सामना नहीं किया था. मैं पूरी तरह टूट गई थी. मैं बहुत रोई थी.’यह हमारी खुशकिस्मती है कि जैसे ही हमारे (असम) राज्य के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल को इसके बारे में पता चला, उन्होंने मुझे फोन किया. सीएम ने हमें भरोसा दिलाया कि वे हमारी हर जरूरी सुरक्षा मुहैया कराएंगे.नाहिद ने बताया, ‘वैसे भी असम के जितने भी नामचीन गायक हैं, लगभग सभी ने हमें फोन कर हमारा हौसला बढ़ाया है. यहां तक कि संगीतकार विशाल डडलानी ने भी फोन कर हर मदद की बात कही. मुझे पता है कि जो भी मेरे अपने हैं, वो मेरे साथ हैं. इन फतवों से मैं नहीं डरती हूं. मैं ताउम्र गाती और कार्यक्रम पेश करती रहूंगी.’दरअसल, मुस्लिम संगठनों के 40 से भी ज्यादा मौलवियों ने नाहिद के खिलाफ फतवा जारी करते हुए उन्हें मंच पर प्रस्तुति देने से मना किया था. इन संगठनों का कहना था कि किसी भी मुस्लिम लड़की का मंच पर प्रस्तुति देना ‘शरिया कानूनों’ के खिलाफ है.अफरीन साल 2015 में रियलटी शो ‘इंडियन आइडल जूनियर’ में उपविजेता रही थीं. अफरीन ने कहा, ‘मैं एक गायिका हूं और संगीत मेरी जिंदगी है. अल्लाह ने मुझे इस आवाज से बख्शा है और अगर मुझे गाने नहीं दिया गया तो मैं मर जाऊंगी. खुद सीएम सोनोवाल ने 25 मार्च को उदाली में होने वाले मेरे कार्यक्रम में मुझे सुरक्षा देने का आश्वासन दिया है.’

नाहिद के समर्थन में आए कई लोग

असम के मुख्यमंत्री सोनोवाल ने बुधवार को ट्वीट कर कहा, ‘कलाकारों की आजादी लोकतंत्र का सार है. नाहिद से बात की और कलाकारों को सुरक्षा देने की हमारी सरकार की प्रतिबद्धता दोहराई.’

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button