मेरठ में 44 लोकतंत्र सेनानियों जो किया गया सम्मानित, निशाने पर रही कांग्रेस

मेरठ। भाजपा महानगर इकाई ने बुधवार को आपातकाल के 44 साल पूरे होने पर 44 लोकतंत्र सेनानियों को सम्मानित किया। इस अवसर पर लोकतंत्र सेनानी सांसद राजेंद्र अग्रवाल ने कहा कि तत्कालीन कांग्रेस सरकार ने लोकतंत्र की हत्या कर दी थी।मेरठ में 44 लोकतंत्र सेनानियों जो किया गया सम्मानित, निशाने पर रही कांग्रेस

सांसद ने 19 माह तक जेल में बंद रहने का अनुभव भी साझा किया। बताया कि इस दौरान उन्होंने संकल्प शीर्षक से एक कविता भी लिखी। मुख्य वक्ता पूर्व मंत्री वीरेंद्र सिंह सिरोही ने कहा कि देश में एक ऐसा परिवार रहा, जो कि सत्ता के लिए कोई भी हथकंडा अपना सकता था। आपातकाल में उत्तर प्रदेश में दो हजार से ज्यादा लोग बंदी बनाए गए, जिन्हें यातनाएं दी गई। कहा कि भाजपा ने जाति-बिरादरी की जंजीरों को तोड़कर गरीबों के उत्थान और विकास को समर्पित सरकार बनाई है।

इस अवसर पर दर्शनलाल ने कहा कि आपातकाल में दलील, अपील व वकील सबका अधिकार छीन लिया गया। उस वक्त संघर्ष को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने नेतृत्व दिया। कार्यक्रम में सत्यप्रकाश अग्रवाल, बिजेंद्र अग्रवाल, अरुण वशिष्ठ, जयकरण गुप्ता, हरिकांत अहलूवालिया, सुशील गुर्जर, पूर्व विधायक अमित अग्रवाल, संजय त्रिपाठी, विवेक रस्तोगी, ललित नागदेव, प्रवीण अग्रवाल, नीरज त्यागी, वरुण गोयल, अजय गुप्ता, राखी त्यागी, सीमा श्रीवास्तव, वर्षा कौशिक व गजेंद्र शर्मा आदि मौजूद थे।

पीछे खड़े कर दिए लोकतंत्र सेनानी

भाजपाइयों ने जिन आपातकाल के लोकतंत्र सेनानियों को सम्मान के लिए बुलाया, उन्हें ही पीछे खड़ा कर दिया। जबकि कार्यकर्ता अगली सीट पर जम गए। इस पर कुछ लोकतंत्र सेनानियों ने एतराज भी जताया, जिसे अनसुना कर दिया गया। बहरहाल, पार्टी के कार्यकर्ता आगे ही जमे रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

उत्तराखंड: जल्द निकाय चुनाव के लिए सरकार पर दबाव बना रही कांग्रेस

देहरादून: विधानसभा का मानसून सत्र निपटने के बाद