ग्वाटेमाला में ज्वालामुखी फटने से 25 की हुई मौत, 2000 लोगों को निकाला गया बाहर

ग्वाटेमाला के नागरिक सुरक्षा अधिकारी का कहना है कि ग्वाटेमाला के फ्यूगो ज्वालामुखी में विस्फोट होने से 25 लोगों की मौत हो गई है। इस ज्वालामुखी से राख और चट्टानें निकल रही हैं। जिसकी वजह से मजबूरन एयरपोर्ट को बंद रखा गया है। यह इस साल का दूसरा सबसे बड़ा विस्फोट है। राष्ट्रीय आपदा राहत एजेंसी के प्रवक्ता डेविड ले लियोन ने पत्रकारों से कहा कि जिन लोगों की लावे की चपेट में आने से मौत हुई है वह किसान समुदाय से ताल्लुक रखते हैं।ग्वाटेमाला में ज्वालामुखी फटने से 25 की हुई मौत, 2000 लोगों को निकाला गया बाहर

ज्वालामुखी में हुए विस्फोट की वजह से 20 लोग घायल हो गए हैं। इसके अलावा एंटीगुआ सहित विभिन्न शहरों के 2000 लोगों को ज्वालामुखी के पास से निकाला गया है। स्पेन के जमाने की यह कॉलेनी ग्वाटेमाला में यात्रियों के आकर्षण का मुख्य केंद्र है। राख से ढके हुए लोग अपनी जान बचाने के लिए भागे जब नागरिक सुरक्षा अधिकारी उन्हें सुरक्षित जगह पर पहुंचाने की कोशिश कर रहे थे।

नागर विमानन ने कहा, ज्वालामुखी से 12,346 फीट की मोटी परत वाली राख निकली। जिसकी वजह से ग्वाटेमाला शहर के अंतर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट को बंद करने पर मजबूर होना पड़ा है। कर्मचारी रनवे से राख को हटाने की कोशिश कर रहे हैं ताकि एयरपोर्ट को दोबारा सक्रिय किया जा सके। ग्वाटेमाला में दो और सक्रिय ज्वालामुखी हैं। पश्चिम में सांटियाग्यूटो और राजधानी के दक्षिण में पाकाया मौजूद हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

चीन का कर्ज बढ़कर 2,580 अरब डॉलर हुआ

चीन का बढ़ता कर्ज अब 2,580 अरब डॉलर