21 मई दिन रविवार का पञ्चांग: जानिए कैसा रहेगा आज आपका दिन

◆आज का पञ्चांग◆

।आप सबका मंगल हो 19 मई दिन शुक्रवार।

विक्रम संवत् – 207421 मई दिन रविवार का पञ्चांग

वार– रविवार

शक सम्वत – 1939 – हेमलम्‍बी

आयन – उत्तरायण

ऋतु – वसन्‍त

मास –  ज्येष्ठ – पूर्णिमांत

पक्ष – कृष्ण पक्ष

तिथि – दशमी

नक्षत्र – पूर्व भाद्रपद

योग – विष्‍कम्‍भ

दिशाशूल – पश्चिम में

राहुकाल (अशुभ) – सायं – 05:20 बजे से – 06:59 बजे तक

सूर्योदय – प्रातः 05:47

सूर्यास्त – सायं 06:59

।।आज का राशिफल।।

मेष– आय के नए स्रोत खुलेंगे, आपका शांतचित्त आपको कई परेशानियों से बचाएगा, यश, मान-प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी।

वृष– आलस्य प्रमाद से बचें। मेहनत के चलते सितारा बुलंद होगा, नए संबंधों से फायदा मिलेगा। किसी यात्रा की संभावना बनेगी। बुद्धिजीवियों को अत्यधिक परिश्रम करना पड़ेगा।

मिथुन– सझेदारों से मनमुटाव होने की संभावना है वाणी पर संयम रखें। नौकरी करने वालों को आज संभल कर कार्य करना चाहिए। पारिवारिक सुख में वृद्धि होगी नए मित्रों से फायदा होगा।

कर्क– कोई महत्वपूर्ण कार्य सार्थक होने के योग है। गाड़ी सावधानी से चलाएं। चोट लगने का योग हैं। प्रेम संबंध मधुर होने के आसार हैं। कोई अच्छा सा उपहार मिल सकता है।

सिंह– जीवनसाथी का भावनात्मक सहयोग प्राप्त होगा, किसी बाहरी व्यक्ति या बाहरी स्थान से लाभ हो सकता है। आज आर्थिक क्षेत्र में स्थिति प्रतिकूल रहेगी।

कन्या– नए कार्यों में व्यस्तता बढ़ेगी। दोस्तों के साथ मनमुटाव हो सकता है। सोच समझ कर बोलें। बातों को दिल से ना लगाएं। राजनीतिक क्षेत्र के व्यक्तियों के लिए अच्छा समय है।

तुला– किसी सम्बन्धी अथवा खुद की अस्वस्थता से परेशान हो सकते हैं। साथी को आपके साथ की जरूरत है। उन्हें वक्त दें। बेकार के झगडे़ से बचें। घर में तनाव हो सकता है।

वृश्चिक– भवन या भूमि की खरीददारी के लिए भी समय अच्छा है। उत्तरार्ध में खर्चे बढ़ेंगे और विरोधी पक्ष आपको परेशान कर सकता है।

धनु– परिस्थितियों में तेजी से बदलाव होगा। ऐसा लगेगा मानो सब कुछ आपके विरूद्ध हो। मानसिक तनाव बढ़ सकता है।

मकर– दूसरों के मामले में में ज्यादा दखल न दें अन्यथा मानहानि तथा अन्य परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है।

कुंभ– घरेलू जीवन को लेकर मन के भीतर उथल-पुथल रह सकती है। उत्तरार्ध में तनाव और बढ़ सकता है। गृहस्थ जीवन में परेशानियों का अनुभव होगा।

मीन– आपके खर्चे कम हो जाएंगे फलस्वरूप आपका मन शांति का अनुभव करेगा लेकिन संतान पक्ष को लेकर कुछ चिन्ताएं अभी भी रह सकती हैं।

You may also like

क्या आपने सुनी है हनुमान जी से जुड़ी से ये अनोखी कथा

केशवदत्त नाम का ब्राह्मण अपनी पत्नी अंजलि के