2 अप्रैल दिन शनिवार का पंचांग: जानिए क्या कहते है आज आपके के सितारे

आज का पञ्चांग

।आप सबका मंगल हो 22 अप्रैल दिन शनिवार। 

2 अप्रैल दिन शनिवार का पंचांग: जानिए क्या कहते है आज आपके के सितारे ऋतु-बसंत
माह-वैशाख
सूर्य-उत्तरायण
सूर्योदय:-05:38
सूर्यास्त:-06:22
राहू काल(अशुभ समय)प्रातः
09:11से 10:48बजे तक
तिथि:-एकादशी
पक्ष:-कृष्ण
दिशाशूल-पूर्व

।।आज का राशिफल।।

(चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, कू, अ )

मेष (Aries):- आज का दिन किसी से मिलने याजनसंपर्क के लिए अच्छा है। लोगों में साख कायम करने केलिए अथवा अपना नेतृत्व बल मजबूत करने के लिए आपकोकुछ खर्च भी करना है। कभी-कभी कुछ लोग आपकीउदारता का फायदा भी उठा लेते हैं। अत : मौका और पात्रदेखकर ही अपनी पूंजी का वितरण करें। सांयकाल तक एकअच्छा खासा उत्सव आपके इर्द गिर्द हो सकता है। कई लोगआपके आगे पीछे होंगे।

सुझाव:-आज आप पिले वस्त्र अथवा फल का विष्णु भगवान को अर्पित करें लाभ होगा।
शुभरंग:-नीला

( व, वी, वू, वे, वो, ओ, उ, ए, इ )
वृष (Taurus):- अगर पिछले कई दिन आर्थिक विषमतादूर करने में मदद नहीं मिल रही है तो आज का दिन आर्थिकमामलों में फिर से सोच विचार करने का है। यदि कहीं परआपका पैसा जमा है अथवा निवेश किया हुआ है तो उसकेअधिग्रहण कर लेने में कोई हर्ज नहीं। जिस प्रकार की देनदारी आपके ऊपर आने वाली है उसके लिए तत्कालव्यवस्था करना जरूरी होगा।

सुझाव:-आज आप फलाहारी मिष्ठान्न ठाकुर जी को अर्पति करें आपका मंगल होगा।
शुभरंग:-चाकलेटी

(क, की, कू, के, को, घ, हा, छ )
मिथुन (Gemini):- आज आप अपने रिलेशनशिप या नये पुराने रिश्ते को लेकर परेशान रहेंगे। लेकिन रिश्ताकोई कांच नहीं जिसे टूटने पर फेंक दिया जाए यदि आप असन्तुष्ट परिजनों या फिर प्रेमी को मना लें तो सारीबात बन जाएगी और जो नुकसान आपको मानसिक तौर पर हो रहा है उसका भी निदान हो जायेगा। बस अबजरूरत है पहल करने की, सो आपको ही इस नेक काम को कर लेना चाहिए।

सुझाव:-आज आप पिले फल किसी मंदिर में अर्पित करें उत्तम होगा।
शुभरंग:- आसमानी

( ही, हू, हे, हो, डा, डी, डू, डे, डो )
कर्क (Cancer):- आपके अन्दर एक विशेष प्रतिभा और व्यक्तित्व की गरिमा है। अगर कोई आपके इस धरातलपर आघात करता है तो फिर आपका मर्ज बढ़ जाना लाजिमी है। बेहतर होगा आप अपने कार्य क्षेत्र और व्यवहारजगत को सीमित कर दें। अपने काम से ही काम रखिए। इसकी शुरुआत आज से करें और साधारण परिश्रम करनेसे ही बहुत कुछ पा सकते हैं। लोगों के मदद की जरूरत नहीं।

सुझाव:-आज आप आज आप पंचामृत से शालिग्राम भगवान का अभिषेक कर उसे जल ग्रहण करें उत्तम होगा।
शुभरंग:-गुलाबी

( म, मी, मू, में, मो, टा, टि, टू, टे )
सिंह (Leo):- किसी से कहा-सुनी हो जाने पर आपने इतना अधिक टेंशन में नहीं रहना चाहिए। आपव्यवहारिक व्यक्ति हैं अत : इतना भावुक होकर काम कैसे चलेगा। यदि सचाई का सामना करेंगे तो आपकोसमझने में देर नहीं लगेगी कि ऐसा सभी के साथ होता आया है। दिल और दिमाग में से आप इस बात को तवज्जोदें। सब कुछ सांयकाल तक संतुलित हो जायेगा।

सुझाव:-आज आप श्री दुर्गा अष्टोत्तर शत नामावली का 11 पाठ करें उत्तम होगा।
शुभरंग:- धानी

(प, पी, पू, पे, पो, ष, म, टो, ठ )
कन्या (Virgo):- यदि आप किसी भंवर जाल में फंसे हैं या कोई समस्या आ खड़ी हो गई है तो किसी की सलाहया सहायता लेने में झिझक कैसी ? सहयोग लेने-देने से ही दुनिया चलती है। अपना काम निपटाइए और आगेबढ़िए। दोपहर बाद यदि अगर फ्री हो जायें तो किसी मीटिंग आदि में जाने का प्रोग्राम बनाएं। इससे भी आपकेभटके मन को सहायता मिलेगी।

सुझाव:-आज आप किसी विप्र को फलाहार करावें लाभ होगा।
शुभरंग:-गेरुवा

(रा, री, रु ,रे, रो, ता, ती ,तू, ते, तो )
तुला (Libra):- आज आपको अपना पक्ष रखने का पूरा मौका मिलेगा। सफाई के तौर पर आप उन्हीं बातों कोकहें, जिनका सम्बन्ध आपके साथ हो। दूसरों को टारगेट करके कोई बात कहने से परहेज करें। आखिर दूसरों कीआलोचना करने से अपनी आलोचना भी हो सकती है। क्रोध या प्रतिवाद दिखाने का तरीका सभ्यतापूर्ण होनाचाहिए। असभ्य ढंग से पेश आने पर आपकी अपनी ही प्रतिष्ठा कम हो सकती है।

सुझाव:- आप आप भगवान नारायण की उपासना करें लाभ होगा।
शुभरंग:-केसरिया

(न, नी, नू, ने, नो, तो, या, यी, यू )
वृश्चिक (Scorpio):- कोई व्यक्ति अगर आपके साथ कुछ सहयोग करके नेक काम करना चाहता है तो इसभलाई के काम में आपको जरूर उतरना चाहिए। अपने कारोबार के साथ साथ सामाजिक कार्यो में व्यस्त रहनाभी आपको आच्छा लगता है। ऐसा ही अवसर आपको आज मिल रहा है। अत : यह जरूरी है कि आप कहां तकइसमें भागीदार होते हैं। कारोबार में अभी समय ठीक ही चल रहा है। इसकी चिन्ता करनी जरूरी नहीं।

सुझाव:-आप आप मुनक्के का भोग भगवती को लगावें उत्तम होगा।
शुभरंग:-पीला

( ये,यो, भ,भी, भू, ध, फ़, ढ, भे )
धनु (Sagittarius):- बार-बार किसी काम में असफल हो जाने पर आप उसे पाने की हठ न करें। यदि आपकिसी के साथ सम्बन्ध बनाना चाहते हैं तो उसके लिए अभी कुछ और इन्तजार करना होगा। दोपहर बाद उनकार्यों को सम्पन्न कर लें, जिसके लिए लोग आपको याद दिला रहे हैं। बार-बार किसी के साथ वायदा खिलाफीकरने से आपकी व्यक्तिगत साख गिर सकती है। अत : अपनी मान प्रतिष्ठा को बनाए रखने में भी रुचि रखनीचाहिए।

सुझाव:-आज आप 11 दानापीली सरसों व 1 चुटकी नमक डाल कर सरसों तेल का दीपक सायंकाल प्रज्वलित करें उत्तम होगा।
शुभरंग:- बादामी

(भे, भो, जा, जी, जू ,जे , जो ,खू, खे, खो,खी)
मकर (Capricorn):- आज के दिन आप किसी सन्त महात्मा के साथ मिलकर भक्ति आराधना में रूचि लेंगे।किसी धार्मिक आयोजन या तीर्थ यात्रा के कार्यक्रम में भी आपकी उपस्थिति नजर आएगी। लेकिन इन सबके बीचआपको त्याग और सादगी का वातावरण अपनाना पडेगा। भोग-विलास और मौजमस्ती के बीच रहकर धार्मिककार्य पूरे नहीं किये जा सकते हैं। जितना भी हो सके अपने भटके हुए मन को शान्त रखें। एक न एक दिन आपकोमानसिक शान्ति जरूर मिलेगी।

सुझाव:-आज आप काल छातादान करें उत्तम होगा।
शुभरंग:-सुनहला

( सा, सी, शू, से,सो, गा, गे, गो, दा )
कुंभ (Aquarius):- काफी तंत्र-मंत्र और अनुष्ठान करने के बाद भी आपका शनि अभी आपको पीड़ा देने मेंसक्रिय रहेगा। इसके लिए फिलहाल अपने जप-तप को जारी रखें और किसी खर्चीले प्रोग्राम से भी परहेज न करें।अगर आपके स्वास्थ्य का मामला है तो तत्काल किसी अच्छे चिकित्सक से परामर्श लें और नियमित इलाज कीव्यवस्था भी करें। फिलहाल आर्थिक पक्ष कमजोर जैसा ही रहेगा। जोड़-तोड़ के बाद ही कुछ गुजारे लायक जुटासकने में समर्थ रहेंगे।

सुझाव:-आज आप मीठा जल भगवान सूर्य को अर्पित करेंआपका मंगल होगा।
शुभ रंग:- हरा

(दे, दो, दी, दू, चा, ची, थ,झ )
मीन (Pisces):- कई बार कुछ असंभव बातों पर आपका ध्यान केन्द्रित हो जाता है। अपना धन और समयआप इस प्रकार के जोखिम भरे कार्यों को करने में नष्ट न करें। अन्त में आपको अपनी परियोजना रद्द करनी पड़तीहै और कार्यक्रम भी रोकना पड़ता है। आपकी भलाई इसी में है कि आप तत्काल ऐसे कामों की समीक्षा करें, जोउत्पादक नहीं है। अपने काम-काज में किसी प्रकार का जोखिम न लें वरना बाद में पश्चाताप करना पड़ सकता है।

सुझाव:-आज हल्दी युक्त चन्दन भगवान श्री गणेश का लगावेंआपका मंगल होगा।
शुभरंग:-पीला

●आज के दिन का विशेष महत्व●

1 आज वैशाख माह कृष्णपक्ष एकादशी तिथि है।
2 आज वरुथिनी एकादशी सभी की है।
3 आज वल्लभाचार्य जयंती है।

★प्रेरणा दाई चौपाई★

जाके सुमिरन ते रिपु नासा।
नाम सत्रुहन बेद प्रकासा।।

अर्थ:- गोस्वामी तुलसी दास जी श्री रामचरित मानस में वर्णित करते है कि जिसके स्मरण मात्र से शत्रुवों का नाश हो जाता है। ऐसे परम प्रतापी बेद विहित कर्म निष्ठ श्री शत्रुघ्न जी है ।

“अस्तु सदाचारी व कर्म निष्ठ व्यक्ति सदैव अजातशत्रु हो सकता है”

◆इति शुभम ◆

।।आचार्य स्वामी विवेकानंद।।
।।श्री अयोध्या धाम।।
।।श्री रामकथा, श्रीमद्भागवत कथा व्यास व ज्योतिर्विद।।
संपर्क सूत्र:-9044741252

loading...
=>

You may also like

22 दिसम्बर दिन गुरुवार का राशिफल: आज इन 4 राशि वालो के जीवन में होगा बड़ा बदलाव, इनके लिए होगा सब शुभ ही शुभ

■आज का पंचांग■ ।।आज का दिन मंगल मय