12वीं के बाद कॉमर्स फील्ड में करियर के बेहतर ऑप्शन

- in करियर

इन दिनों 12 बोर्ड परीक्षाओं के परिणाम आ ही रहे है और अब स्टूडेंट्स अपने आगे के करियर के लिए सोच रहे है की किस क्षेत्र में अपना करियर बनाएं, जो छात्र कॉमर्स फील्ड में रूचि रखते है वे कॉमर्स फील्ड में करियर के बेहतर ऑप्शन का चयन कर सकते है,आने वाले कुछ ही दिनों में एडमिशन प्रक्रिया भी शुरू हो जायेगी,जो छात्र इस क्षेत्र में करियर बनाना चाहते है, वे नीचे दिए गए करियर ऑप्शन का चयन कर सकते है.

12वीं के बाद कॉमर्स फील्ड में करियर के बेहतर ऑप्शन

बैचलर ऑफ कॉमर्स (B.Com)- 12वीं के बाद कॉमर्स में तीन साल का ग्रेजुएशन करना चाहते हैं तो बीकॉम एक अच्छा ऑप्शन है. इस डिग्री की मदद से आप अकाउंटिंग फाइनांस, ऑपरेशंस, टेक्सेशन और दूसरे कई फील्ड्स में अपना करियर बना सकते हैं. बीकॉम में स्टूडेट्स को गुड्स अकाउंटिंग, अकाउंट्स, प्रोफिट एंड लॉस और कंपनी कानून की जानकारी दी जाती है. बीकॉम एक तरह से आपके करियर का पहला स्टेप है.

ये भी पढ़े: मार्क जुकरबर्ग और बिल गेट्स से लेकर ये अरबपति है कॉलेज ड्रॉपआउट

बैचलर ऑफ कॉमर्स (ऑनर्स)- अकसर स्टूडेंट्स बैचलर ऑफ कॉमर्स (ऑनर्स) और बैचलर ऑफ कॉमर्स में अंतर नहीं कर पाते. दरअसल, बीकॉम ऑनर्स तीन साल का डिग्री प्रोग्राम है जिसमें कुल मिलाकर 40 विषय होते हैं. स्टूडेंट्स को इन विषयों के अलावा एक विषय में स्पेशलाइजेशन भी कराया जाता है. स्पेशलाइजेशन के लिए स्टूडेंट्स मार्केटिंग मैनेजमेंट, अकाउंटिंग और फाइनांशियल मैनेजमेंट, इंटरनेशनल ट्रेड एंड फाइनांस, ई कॉमर्स, बैंकिंग या ह्यूमन एंड रिसोर्स मैनेजमेंट में से किसी एक विषय चुन सकते हैं. बैचलर ऑफ कॉमर्स में सब्‍जेक्‍ट्स ऑनर्स की तुलना में कम डिटेल में पढ़ाए जाते हैं.

बीकॉम- एकाउंटिंग एंड फाइनांस (B.Com-Accts and Finance)- बैचलर ऑफ कॉमर्स इन अकाउंटिंग एंड फाइनांस 12वीं के बाद किया जाने वाला तीन साल का डिग्री प्रोग्राम है. इस कोर्स के बाद अकाउंट्स और फाइनांस में करियर के मौके काफी होते हैं. शुरुआती दिनों में बतौर ट्रेनी अकाउंटेंट काम किया जा सकता है. इस प्रोग्राम में अकाउंट्स, फाइनांस, टेक्सेशन के करीब 39 विषय पढ़ाए जाते हैं. इस डिग्री प्रोग्राम में फाइनांशियल नॉलेज पर ज्‍यादा फोकस किया जाता है.

You may also like

लोअर पीसीएस-2015 के चयनितों को चार माह बाद भी नियुक्ति का इंतजार – राघवेन्द्र प्रताप सिंह

लखनऊ। एक ओर जहाँ सूबे की योगी आदित्यनाथ