बीते 24 घंटे में 11919 नए कोरोना केस दर्ज, सक्रिय मामले घटकर हुए इतने…

 दिसंबर 2019 में सबसे पहले सामने आए कोरोना वायरस के मामलों ने पूरी दुनिया को अपनी चपेट में ले लिया। अब महामारी को दो साल होने जा रहे हैं और आज भी लाखों लोग इससे प्रभावित हो रहे हैं। भारत ने काफी हद तक कोरोना पर काबू पाया है, लेकिन आए दिन काफी लोगों की मौतें हो रही हैं। भारत में कोविड-19 के ताजा आंकड़े केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी किए गए हैं। गुरुवार को ताजा अपडेट के अनुसार, भारत ने पिछले 24 घंटे की अवधि में 11,919 नए कोरोना वायरस के मामले दर्ज किए। इसके साथ ही देश में COVID-19 मामलों की कुल संख्या 3 करोड़ 44 लाख 78 हजार 517 हो गई है, जबकि सक्रिय मामले घटकर 1,28,762 हो गए, जो मार्च 2020 के बाद सबसे कम हैं। बताया गया कि कुल मामलों के 1% से कम है सक्रिय केसलोड, वर्तमान में 0.37% है।

सुबह 8 बजे अपडेट किए गए आंकड़ों के अनुसार, 470 लोगों की कोरोना वायरस से मौत भी हुई है। इसी के साथ मरने वालों की संख्या बढ़कर 4,64,623 हो गई है। नए कोरोना वायरस संक्रमणों में दैनिक वृद्धि 41 सीधे दिनों के लिए 20,000 से नीचे रही है और लगातार 144 दिनों में 50,000 से कम दैनिक नए मामले सामने आए हैं।

स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि सक्रिय मामले घटकर 1,28,762 हो गए हैं, जिसमें कुल संक्रमण का 0.37 प्रतिशत है, जो मार्च 2020 के बाद सबसे कम है, जबकि राष्ट्रीय COVID-19 रिकवरी दर 98.28 प्रतिशत दर्ज की गई है, जो मार्च 2020 के बाद से सबसे अधिक है। 24 घंटे की अवधि में सक्रिय COVID-19 केसलोड में 207 मामलों की कमी दर्ज की गई है।

दैनिक सकारात्मकता दर 0.97 प्रतिशत दर्ज की गई। पिछले 45 दिनों से यह 2 फीसदी से भी कम है। साप्ताहिक सकारात्मकता दर भी 0.94 प्रतिशत दर्ज की गई। स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक पिछले 55 दिनों से यह 2 फीसदी से नीचे है। बीमारी से स्वस्थ होने वालों की संख्या बढ़कर 3 करोड़ 38 लाख 85 हजार 132 हो गई, जबकि मृत्यु दर बढ़कर 1.35 प्रतिशत हो गई।

राष्ट्रव्यापी COVID-19 टीकाकरण अभियान के तहत अब तक देश में कोरोना वायरस के खिलाफ 114.46 करोड़ से अधिक खुराक दी जा चुकी है। भारत की COVID-19 टैली की बात करें तो 7 अगस्त (2020) को 20 लाख, 23 अगस्त को 30 लाख, 5 सितंबर को 40 लाख और 16 सितंबर को 50 लाख मामलों को पार कर गया था। यह 28 सितंबर को 60 लाख, 11 अक्टूबर को 70 लाख मामलों को पार कर गया था। 29 अक्टूबर को 80 लाख, 20 नवंबर को 90 लाख और 19 दिसंबर को एक करोड़ के आंकड़े को पार कर गया। भारत ने 4 मई तक दो करोड़ मामलों और 23 जून को तीन करोड़ के गंभीर आंकड़ों को पार कर लिया था।

भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (ICMR) ने गुरुवार को कहा कि भारत में टेस्टिंग की क्षमता को बड़े पैमाने पर बढ़ाया गया है और अब तक 62,82,48,841 COVID-19 परीक्षण किए जा चुके हैं। इसमें से 12,32,505 नमूनों का परीक्षण पिछले 24 घंटों में हुआ।

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

nineteen − 14 =

Back to top button