कर्नाटक चुनाव से पहले बेंगलुरु में मिले 10 हजार फर्जी वोटर कार्ड, क्या है इसके पीछे की सच्चाई

- in Mainslide, राष्ट्रीय

नॉर्थ बेंगलुरु के राज राजेश्वरी नगर में किराए के एक मकान में मंगलवार देर रात करीब 10 हजार वोटर ID कार्ड बरामद किए गए हैं. इस मामले में चुनाव आयोग ने जांच के आदेश दे दिए हैं. चुनाव आयोग ने जानकारी दी कि 9746 वोटर आईडी बरामद किए गए हैं. जिस घर से वोटर आईडी कार्ड बरामद हुए हैं वह मंजुला नंजामरी नाम की एक नेता का है जिसे उन्होंने राकेश कुमार नाम के शख्स को किराए पर दिया गया था. इस घटना के बाद कर्नाटक के मुख्य निर्वाचन अधिकारी संजीव कुमार ने प्रेस कॉन्फ्रेंस लेकर जानकारी दी कि संभवतः ये आई कार्ड इलाके के स्लम में रहने वाले लोगों के हैं.कर्नाटक चुनाव से पहले बेंगलुरु में मिले 10 हजार फर्जी वोटर कार्ड, क्या है इसके पीछे की सच्चाई

जिला निर्वाचन अधिकारी और ऑब्जर्वर्स को इस मामले की जांच की जिम्मेदारी सौंपी गई है. संजीव कुमार ने कहा, ‘इस घर से चुनाव की पावती की तरह दिखने वाले एक लाख से ज्यादा चिट भी बरामद किए गए हैं.’ उन्होंने कहा कि कितने चिट फर्जी हैं और कितने सही हैं इसकी भी जांच की जाएगी और आगामी चुनाव में इनका किस तरीके से इस्तेमाल किए जाने की योजना थी इस पर भी विचार किया जाएगा.निर्वाचन अधिकारी ने कहा, ‘यह एक गंभीर मामला है लेकिन हम जांच के बिना कोई कार्रवाई नहीं करना चाहते हैं. कुछ गड़बड़ जरूर है. जिसने भी यह किया है उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी.’

संजीव कुमार ने आगे कहा कि राज्य के औसत की तुलना में आरआर नगर में वोटरों की संख्या अधिक है. उन्होंने कहा, “यहां 4 लाख 35 हजार 439 वोटर हैं.  इस चुनाव में 44 हजार 837 वोटर और शामिल हुए हैं.” देर रात हुए इस खुलासे से कर्नाटक में हड़कंप मच गया. कांग्रेस  प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने आधी रात को मीडिया को संबोधित किया. उन्होंने कहा, ‘चुनाव आयोग ने साफ कहा है कि कांग्रेस विधायक मंजुला नंजामरी ने घर अपने बेटे राकेश को किराए पर दिया था. राकेश ने बीजेपी की टिकट पर 2015 में बेंगलुरु नगर पालिका चुनाव में बीजेपी की टिकट से चुनाव लड़ा था.’

सुरजेवाला ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में एक फोटो दिखाते हुए कहा, ‘इस फोटो में आप देख सकते हैं कि बीजेपी के विधायक उम्मीदवार मुनिराज गौड़ा बीजेपी लीडर राकेश के साथ दिख रहे हैं. राकेश वही हैं जिनके घर से वोटर आईडी बरामद हुए हैं.’मामला बढ़ता देख पूर्व पीएम और जेडीएस सुप्रीमो एचडी देवगौड़ा ने उस जगह का दौरा किया जहां जांच चल रही थी. उन्होंने निर्वाचन अधिकारी से उचित कार्रवाई की मांग की. दूसरी तरफ केंद्रीय संसदीय कार्य मंत्री अनंत कुमार ने आरआर नगर विधानसभा सीट पर चुनाव पोस्टपोन करने की मांग की. उन्होंने बादामी सीट पर भी पैरामिलिट्री फोर्स की सुरक्षा में चुनाव कराने की मांग की. वहीं रणदीप सुरजेवाला ने केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावडेकर पर साजिश रचने का आरोप लगाते हुए उनके इस्तीफे की मांग की.

=>
=>
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

WOW: अब हर शहर की नौकरी की जानकारी जानिए बस एक क्लिक में…

कानपुरः अब किसी भी शहर में निकलने वाली