10 लाख की साड़ी, 43 हजार की चप्पल और पॉपर्टी इतनी कि अंबानी को टक्कर दे रही है, जाने कौन है ?

जानिए कौन है ये जो इतनी शानों-शोकत से रह रहे है कि जिसने भी सुना यही कहता नजर आया कि’ये तो अंबानी को टक्कर दे दें।’
यहां बात हो रही है दक्षिण अफ्रीका की राजनीति में भूचाल लाने वाले गुप्ता बंधुओं की भारत में 94 प्रॉपर्टी हैं। गुप्ता बंधुओं की शान-ओ-शौकत का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि आयकर विभाग को जो कैश बिल मिले हैं, वह चौंकाने वाले हैं।

10 लाख की साड़ी, 43 हजार की चप्पल और पॉपर्टी इतनी कि अंबानी को टक्कर दे रही है, जाने कौन है ?विभिन्न आयोजनों के लिए गुप्ता बंधुओं ने दस-दस लाख रुपये की साड़ियां और कपड़े खरीदे हैं, जिनका भुगतान कैश में किया गया है। सभी बिलों की जांच की जा रही है। इनमें से केवल 30 के ही कागजात आयकर विभाग को मिल पाए हैं। बाकी प्रॉपर्टी बैलेंस शीट में तो हैं, लेकिन उनके असल मालिकों का कुछ अता-पता नहीं है।

उधर, आयकर विभाग ने बृहस्पतिवार को गुप्ता बंधुओं को समन जारी कर दिया। अब सभी प्रॉपर्टी को अटैच करने की प्रक्रिया भी शुरू कर दी जाएगी। बताया गया कि गुप्ता बंधुओं ने अकाउंट बुक में पैसा खपाने के लिए यह प्रॉपर्टी औने-पौने दामों में खरीदनी दिखाई है।

आयकर विभाग की यूपी और उत्तराखंड की 150 अधिकारियों की टीम 80 घंटे बाद भी बृहस्पतिवार को गुप्ता बंधुओं (अतुल गुप्ता, अजय गुप्ता और राजेश गुप्ता) के देहरादून के कर्जन रोड, डालनवाला स्थित बंगले मेें पड़ताल में जुटी रही। खबर लिखे जाने तक गुप्ता बंधुओं की भारत में 94 प्रॉपर्टी पकड़ में आई हैं।

खास बात यह है कि यह सभी प्लॉट हैं। इनमें से 30 प्रॉपर्टी के कागज तो मिल गए हैं, लेकिन बाकी प्रॉपर्टी की अधूरी डिटेल केवल बैलेंस शीट में दर्ज है। इन सभी 94 प्रॉपर्टी को औने-पौने दामों में खरीदा गया है। इनकी कुल कीमत 9 करोड़ 41 लाख, 98 हजार 19 रुपये दर्ज है।

gupta brothers
आयकर विभाग के अधिकारी इस प्रॉपर्टी की असल कीमत 50 करोड़ से अधिक आंक रहे हैं। यह प्रॉपर्टी न केवल देहरादून बल्कि हरिद्वार, रुड़की, भगवानपुर, सहारनपुर, नोएडा और दिल्ली में है। जिन 30 प्रॉपर्टी के कागज सामने आए हैं, उनकी कीमत करीब 5.66 करोड़ रुपये है। आयकर विभाग ने तीन दिन बाद भी सही जवाब न देने पर गुप्ता बंधुओं को समन जारी कर दिया है।

यह समन आयकर विभाग का एक अधिकारी सहारनपुर स्थित गुप्ता बंधुओं के अकाउंटेंट महेश शर्मा के पास लेकर गया है। विभाग ने इसके साथ ही पूरी प्रॉपर्टी अटैच करने की कार्रवाई शुरू कर दी है। गुप्ता बंधुओं के दून स्थित आवास में पड़ताल के दौरान आयकर विभाग को विभिन्न बैंकों के 300 चेक मिले हैं। इन सभी चेकों पर गुप्ता बंधुओं और उनके बच्चों के साइन हैं। यह चेक आईसीआईसीआई, एचडीएफसी, बैंक ऑफ बड़ौदा सहित कई बैंकों के हैं।

पैसा पाने वालों को केवल इसमें अपना नाम लिखना है और सीधे बैंक से पैसा निकाल लेना है। जब गुप्ता बंधुओं के बहनोई और बहन से पूछताछ की गई तो वह कोई संतोषजनक जवाब नहीं दे पाए। अब आयकर विभाग यह जांच करेगा कि जिन खातों के यह चेक हैं, उनमें कितना पैसा है। सभी खाते सीज किए जाएंगे।

You may also like

चलती ट्रेन में लड़की से हुआ एकतरफा प्यार, और फिर तलाशने के लिए करना पड़ा ये काम

कहते है कि प्यार पहली नजर में ही