बेटियों ने रो-रोकर लिखा लेटर, पढ़कर हिल जाएंगे…

- in हरियाणा

मोदी सरकार को तीन साल हो गए हैं, लेकिन देश में बेटियों के हालात जानकर प्रधानमंत्री हिल जाएंगे। पढ़िए रो-रोकर लिखा गया ये दर्द भरा लेटर आंखें नम हो जाएंगी।

10वीं बोर्ड के रिजल्ट

दरअसल, हरियाणा में 10वीं बोर्ड के रिजल्ट को लेकर हंगामा हो रहा है। स्कूली छात्राएं अपना हक पाने के लिए सड़कों पर उतर आईं है। दसवीं के परीक्षा परिणाम में पहले पास और बाद में फेल दिखाए जाने पर दो दिनों तक सुनवाई नहीं होने पर बुधवार सुबह धरना दिया। बाद में अध्यापकों ने नाम काटने की धमकी दी तो छुट्टी के बाद शहर के पिहोवा चौक पर जाम लगा दिया।

धरने पर बैठे ही बेटियों ने रोते हुए पीएम मोदी को लेटर लिखा। रोते हुए बेटियों ने कहा, हैलो पीएम सर, आपको हमारा नमस्कार। आपकी बेटियों को फेल कर दिया गया है। वैसे तो आप बेटी-बचाओ-बेटी पढ़ाओ की बात कहते हैं, लेकिन उन्हें जानबूझ कर फेल कर दिया गया है। टीचर कहते हैं कि रि-चेकिंग के फार्म भर दो, लेकिन जिन बच्चों के माता पिता 1500 रुपए प्रति माह कमाते हैं वे बच्चे कैसे रि-चेकिंग का फार्म भरेंगे।

एक बेटी ने रोते हुए कहा कि हमारी कोई नहीं सुन रहा, मोदी सर अब आप भी सुन लिजिए। घर वाले शादी करने की बात कह रहे हैं। पास न हुए तो घर वाले शादी कर देंगे, फिर हम कैसे पढ़ पाएंगी। हमारा रिजल्ट खराब हो सकता है, मगर हम फेल नहीं हो सकतीं। सोनिया का कहना था कि मेरे पापा को पैरालाइज हुआ है। मां दूसरों के घर झाड़ू पोंछा करती हैं। छुट्टी के दिन मैं भी पोंछा मारने जाती हूं।

यह भी पढ़ें:  सहारनपुर हिंसा में सियासत और संग्राम के बीच दलित वोट बैंक लपकने की होड़

नवप्रीत का कहना था कि सर… मेरी मां आटा चक्की चलाते हुए पढ़ा रही है। मैं फेल हो गई तो…आगे कौन पढ़ाएगा। इस तरह से बेटियों की आंखों से आंसू निकल आए। कई बेटियों ने रोते हुए कहा कि उनका परिणाम खराब आया है। वे फेल नहीं हो सकतीं। अब मैं फेल हो गई हूं तो आगे कौन बेटियों को पढ़ाएगा। इस तरह चौक पर बेटियां जाम लगाते हुए अपनी आवाज बुलंद करती रहीं।

You may also like

राष्ट्रपति कोविंद पहुँचे फतेहाबाद, सुरक्षा के कड़े हैं इंतज़ाम

फतेहाबाद। शहर की नई अनाज मंडी में संत