1 सितंबर से बदलेंगे ये नियम, जेब पर पड़ेगा सीधा असर

जुबिली न्यूज़ डेस्क
नई दिल्ली। कोविड-19 महामारी के बीच कई नये नियम लागू किए गए, जिनमें कई बार बदलाव किया गया। एक सितंबर से कई नियम और चीजें बदलने जा रही हैं, जिसका सीधा असर आप पर होगा।
आरबीआई द्वारा घोषित लोन मोरेटोरियम अवधि 31 अगस्त को खत्म हो जाएगी। यानी वेतन कटौती और नौकरी गंवाने वाले लोगों को बड़ा झटका लगने वाला है। इसके अलावा एलपीजी गैस सिलेंडर, एयरलाइन किराया आदि से जुड़े नियम बदलने वाले हैं। इन नियमों में हुए बदलाव से सीधा आम आदमी को सामना करना और इसका असर आपकी जेब पर भी पड़ेगा।
ये भी पढ़े: पंचायत चुनाव: 2 से ज्यादा हैं बच्चे तो नहीं लड़ पाएंगे चुनाव!
ये भी पढ़े: रिलायंस के इस कदम से बच गई हजारों परिवार की रोजी-रोटी

सरकार ने कहा है कि वस्तु एवं सेवा कर के भुगतान में देरी की स्थिति में एक सितंबर से कुल टैक्स देनदारी पर ब्याज लगाया जाएगा। साल की शुरुआत में उद्योग ने जीएसटी भुगतान में देरी पर लगभग 46,000 करोड़ के बकाया ब्याज की वसूली के निर्देश पर चिंता जताई थी। ब्याज कुल देनदारी पर लगाया गया था।
ये भी पढ़े: अदालत ने मोदी सरकार के ‘आत्मनिर्भर भारत’ बनाने के दावे को पाखंड क्यों कहा?
ये भी पढ़े: कोरोना ने पितरों का पिंडदान भी रोक दिया
कोरोनाकाल में लोगों को ईएमआई जैसे बड़े खर्चों से कुछ समय के लिए राहत देने के लिए आरबीआई ने मार्च में मोरेटोरियम अवधि शुरू की थी, जो 31 अगस्त को समाप्त हो रही है। मोरेटोरियम अवधि में लोगों के पास ईएमआई नहीं चुकाने का विकल्प था।
ऐसे में ईएमआई फिर से शुरू होने से आपकी जेब पर बोझ बढ़ सकता है। आरबीआई ने ग्राहकों को राहत देने का अधिकार बैंकों को दिया है और इस पर भारतीय स्टेट बैंक और पंजाब नेशनल बैंक की तरफ से अगले हफ्ते फैसला होने की संभावना है।
एक सितंबर से विमान सेवाएं महंगी हो सकती हैं। नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने 1 सितंबर से घरेलू और अंतरराष्ट्रीय यात्रियों से उच्च विमानन सुरक्षा शुल्क (ASF) वसूलने का फैसला किया है। एएसएफ शुल्क के तौर पर घरेलू यात्रियों से अब 150 के बजाए 160 रुपए वसूला जाएगा, वहीं अंतरराष्ट्रीय यात्रियों से 4.85 डॉलर के बदले 5.2 डॉलर वसूला जाएगा। यानी अंतर्राष्ट्रीय हवाई यात्रा करने पर 40 रुपये ज्यादा देने होंगे।
1 सितंबर से एलपीजी के दाम में बदलाव आ सकता है। हर महीने की पहली तारीख को एलपीजी सिलेंडर की कीमतों में बदलाव होता है। ऐसा माना जा रहा है कि कंपनियां एलपीजी, सीएनजी और पीएनजी कीमतें कम कर सकती हैं।
ये भी पढ़े: उजाला और बढ़ता है, चिरागों को बुझाने से ..
ये भी पढ़े: आधी रात बाद ट्विटर पर आए हेमंत सोरोन ने क्या कहा?

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button