ज़िदगी बचाने के लिए जा रहा था घर, रास्ते में तोड़ दिया दम

नई दिल्ली। कोरोना के प्रकोप के चलते सरकार द्वारा लागू किये गए 14 अप्रैल तक के लॉक डाउन के कारण दिल्ली में फंसे कई राज्यों के लोग बस और ट्रेन के अभाव में पैदल ही अपने अपने ठिकानों की तरफ निकल रहे हैं।
इसी क्रम में दिल्ली से मध्य प्रदेश के मुरैना के लिए पैदल निकले एक व्यक्ति की रास्ते में मौत हो गई। मौत का कारण अत्यधिक पैदल चलना बताया जा रहा है। मृतक की पहचान रघुवीर पुत्र राम लाल (40) निवासी गांव बरफड़ा, मुरैना (मध्यप्रदेश) के तौर पर हुई है।
मृतक व्यक्ति दिल्ली के तुगलकाबाद में एक रेस्टोरेंट में काम करता था। यह रेस्टोरेंट्स फूड डिलीवरी का काम करता था। अचानक हुई लॉकडाउन की घोषणा के बाद रघुवीर के सामने आजीविका चलाने का प्रश्न खड़ा हो गया और उसने अपने साथियों के साथ पैदल ही अपनी मंजिल तय करने की योजना बनाई।
शनिवार सुबह पांच बजे आगरा के करीब सिकंदरा के कैलाश मोड़ पर गुप्ता हार्डवेयर के सामने पहुंचते ही अचानक सीने में दर्द हुआ। इस दौरान वहां एक दुकानदार ने उसे थका हुआ देखकर आराम करने की सलाह दी और उसे चाय इत्यादि भी दी लेकिन थोड़ी ही देर में रघुवीर ज़मीन पर गिर गया। उसे अस्पताल ले जाया गया लेकिन डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।
गौरतलब है कि लॉकडाउन के एलान के बाद अन्य राज्यों के हज़ारो लोग दिल्ली से पैदल ही कूंच कर रहे हैं। बसों और ट्रेनों की बंदी के चलते ट्रांसपोर्ट का कोई साधन कल तक उपलब्ध नहीं था। आज उत्तर प्रदेश सरकार ने दिल्ली-यूपी बॉर्डर पर पहुंचे लोगों को लाने के लिए एक हज़ार बसें लगाई हैं।

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button