होली: इस होली रखिये इन बातों का ध्यान,रहेंगे स्वस्थ्य और प्रसन्न

फेस्टिवल डेस्क|
होली का त्योहार का आते ही मन और तन दोनों रंगीन हो जाते हैं। होली के मौके पर रंगों का विशेष महत्व है। इसके अलावा इस त्योहार पर खानपान को लेकर खूब तैयारियां की जाती हैं। इसलिए कह सकते हैं कि बिना रंग और खानपान के होली की कल्पना करना मुश्किल है। वहीं, सबसे बड़ा सवाल होता है कि स्वस्थ और सुरक्षित होली कैसे मनाएं? होली के रंग में भंग न पड़े इसलिए इसके लिए इन हेल्थ टिप्स अपनाएं।

ज़रूरी टिप्स

बाजार में मिलने वाली मिठाईयों में भी केमिकल का खूब इस्तेमाल होता है। इसलिए कोशिश करें कि घर पर बनी मिठाईयों को ही खाएं। इसके अलावा होली के दिन भांग और शराब से बचें क्योंकि इससे ब्लड प्रेशर बढ़ने का खतरा बना रहता है। 
जब भी मुंह में रंग चला जाए तो सबसे पहले अच्छी तरह से कुल्ला करें और जो भी रंग अंदर गया है थूक दें। ढेर सारा पानी पिएं। इसके अलावा रंग लगे हाथों से कुछ भी न खाएं। कभी-कभी रंग खेलते समय कानों में भी चला जाता है। इस बात को हम गंभीरता से नहीं लेते। जब भी ऐसा हो तो कान में सरसों का तेल हल्का गरम करके उसकी एक-दो बूंदें कानों में डाल लें और ऊपर से कॉटन लगा लें। 
होली खेलने से पहले शरीर पर क्रीम और तेल लगाना चाहिए और कोशिश करें कि ऐसे कपड़े पहने जो आपके शरीर को ज्यादा से ज्यादा कवर करें। इसके अलावा रंगों का बालों पर भी असर पड़ता है, इसलिए बालों की सुरक्षा भी करें। इसके लिए सिर को कपड़े या टोपी से ढक सकते हैं।
बाजार में केमिकल युक्त रंगों की भरमार रहती है, ऐसे में सावधानी बरतनी चाहिए की इन रंगों से बचा जाए। होली में सिर्फ नैचुरल रंगो का ही इस्तेमाल किया जाए। 
होली में रंग खेलने के बाद लोग रंग को छुड़ाने के लिए केमिकल वाले साबुन व अन्य पदार्थों का इस्तेमाल करते हैं, जो कि त्वचा के लिए हानिकारक होता है। इसलिए नार्मल साबुन आदि का ही इस्तेमाल करना चाहिए। 
होली खेलते समय रंग लगे हाथों से आंखों को टच न करें, लेकिन अक्सर रंग आंखों में चला जाता है। रंग के आंखों में जाने पर पानी से अच्छी तरह आंखों को धोएं। मले नहीं। आंखों को ताजे और साफ पानी से तब तक धोते रहें जब तक कि पूरा रंग न निकल जाए। 

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button