हाईकोर्ट के आदेश पर निजी बसें चलाने पर करनाल-सिरसा में किया चक्का जाम

- in राज्य, हरियाणा
करनाल.हरियाणा रोडवेज यूनियनों ने सरकार को चेतावनी दी है कि अगर निजी बसों को नए मार्गों पर चलाने का प्रयास किया, तो तुरंत हड़ताल की जाएगी। सोमवार को सुबह 9 से 11 बजे तक प्रदर्शन किया जाएगा। इसमें परिवहन पॉलिसी 2016-17 को रद्द करने की मांग की जाएगी। यह चेतावनी रोडवेज की 8 यूनियनों के प्रधानों ने परिवहन विभाग के निदेशक को पत्र के माध्यम से दी है।
हाईकोर्ट के आदेश पर निजी बसें चलाने पर करनाल-सिरसा में किया चक्का जाम
यूनियन नेता हरिनारायण शर्मा, इंद्र सिंह बधाना, दलबीर किरमारा, बिरेंद्र धनखड़, आजाद मलिक ने सर्वसम्मति से लिए गए निर्णय का ब्योरा देते हुए पत्र में लिखा कि राज्य परिवहन विभाग में कार्यरत सभी 8 यूनियनों के आह्वान पर रोडवेज कर्मचारियों का 18 जून को परिवहन मंत्री के कैंप कार्यालय मतलौडा पर और 9 जुलाई को करनाल में मुख्यमंत्री कैंप कार्यालय पर प्रदर्शन करेंगे। सरकार की वादा खिलाफी को लेकर 29 मई को प्रदेशभर के डिपो पर सुबह 9 से 11 बजे तक विरोध प्रदर्शन करेंगे। आरोप लगाया कि सरकार सिर्फ निजी बस ऑपरेटरों को फायदा पहुंचाना चाहती है।

ये भी पढ़े: RCA: क्रिकेट संघ के लिए घमासान, रुचिर मोदी और सीपी जोशी में सीधा मुकाबला

इधर, सिरसा में कर्मचािरयों ने नहीं सुनी अफसरों की, किया प्रदर्शन
हाईकोर्ट के आदेशानुसार निजी बसें चलाने पर रोडवेज कर्मियों ने रविवार को चक्का जामकर मोर्चा खोल दिया। इस बीच एसडीएम विजेंद्र सिंह हुड्डा, सचिव आरटीए सुमित कुमार और जीएम रोडवेज रामकुमार भुक्कल रोडवेज बसों के चक्का जाम को खुलवाने के लिए देर शाम तक जद्दोजहद करते रहे। रोडवेज कर्मचारी नेताआें ने चेतावनी दी कि सोमवार को प्रदेशभर में रोडवेज का चक्का जाम कर दिया जाएगा।

You may also like

हरियाणा रोडवेज के कर्मचारी 5 सितंबर को करेंगे बसों का चक्का जाम

चंडीगढ़। हरियाणा सरकार से हुए समझौते लागू नहीं