सोहराबुद्दीन एनकाउंटर केस: लोया की संदिग्ध मौत को SC ने बताया ‘गंभीर मामला’

- in अपराध, महाराष्ट्र

सुप्रीम कोर्ट सोहराबुद्दीन शेख एनकाउंटर केस की सुनवाई कर रहे सीबीआई के विशेष जज बीएच लोया की मौत की जांच संबंधी याचिका पर सुनवाई कर रही है। कोर्ट ने महाराष्ट्र सरकार से जज की पोस्टमार्टम रिपोर्ट मांगी है। कोर्ट का कहना है कि यह मामला काफी गंभीर है। अब इस मामले में सोमवार को सुनवाई होगी। कोर्ट ने फडणवीस सरकार से इस मामले से संबंधित सभी दस्तावेजों को सोमवार को पेश करने के लिए कहा है।

जज बीएच लोया की संदिग्ध मौत को सुप्रीम कोर्ट ने बताया 'गंभीर मामला'जज बीएच लोया की संदिग्ध मौत को सुप्रीम कोर्ट ने बताया 'गंभीर मामला'जज लोया की 1 दिसंबर, 2014 को मौत हुई थी। महाराष्ट्र के पत्रकार बीआर लोन ने उनकी मौत की जांच कराने के लिए शीर्ष अदालत में याचिका दायर की है। चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा, जस्टिस एएम खानविल्कर और जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ की पीठ ने बीते बृहस्पतिवार को इस याचिका पर शीघ्र सुनवाई के अनुरोध को स्वीकार कर लिया था।

याचिका में कहा गया है कि सोहराबुद्दीन मुठभेड़ के संवेदनशील मामले की सुनवाई कर रहे जज लोया की रहस्यमय मौत की निष्पक्ष जांच की जरूरत है। इस मामले में कई पुलिस अधिकारियों और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह को पक्षकार बनाया गया था।

बता दें कि जज लोया 1 दिसंबर, 2014 को नागपुर में अपने सहकर्मी की बेटी की शादी में शामिल होने गए थे। वहीं हार्ट अटैक के कारण उनकी मृत्यु हुई थी। यह मामला तब सुर्खियों में आया जब पिछले साल नवंबर में लोया की बहन ने इसे सोहराबुद्दीन केस से जोड़ते हुए उनकी मौत की परिस्थितियों पर शक जाहिर किया।

गुजरात में 2005 में सोहराबुद्दीन शेख, उसकी बीवी कौसर बी और उसके दोस्त तुलसीराम प्रजापति की तथाकथित फर्जी मुठभेड़ में मौत के मामले में पुलिस अधिकारियों समेत 23 आरोपियों के खिलाफ सुनवाई चल रही है। इस मामले को बाद में सीबीआई को स्थानांतरित कर दिया गया और केस की सुनवाई भी मुंबई शिफ्ट कर दी गई थी।
 

=>
=>
loading...

You may also like

गोरखपुर : सब्जी विक्रेता की हत्या कर सड़क किनारे शव फेंका

चौरीचौरा (गोरखपुर)। सब्जी विक्रेता विशाल चौधरी (23) की