सॉल्वर गैंग के 47 सदस्य को उप्र की सिपाही भर्ती परीक्षा में किया गया गिरफ्तार

- in गजब

उप्र की सिपाही भर्ती परीक्षा-2018 के दूसरे दिन मंगलवार को भी एसटीएफ और पुलिस ने बड़ी कार्रवाई की। एसटीएफ ने मेरठ से सॉल्वर गैंग के सरगना सहित 23 आरोपितों को पकड़ा है, जबकि पुलिस ने विभिन्न जिलों से 24 आरोपितों को गिरफ्तार किया है।

उप्र पुलिस प्रोन्नति एवं भर्ती बोर्ड के अध्यक्ष/डीजी जीपी शर्मा ने बताया कि मंगलवार को करीब 85 फीसद अभ्यर्थियों ने परीक्षा दी। दो पालियों में लगभग साढ़े नौ लाख अभ्यर्थी परीक्षा में शामिल हुए। 18 व 19 जून को कुल करीब 19 लाख अभ्यर्थियों ने परीक्षा दी है।

गौरतलब है कि सोमवार को एसटीएफ व पुलिस ने सॉल्वर गैंग के 33 सदस्यों को पकड़ा था। एसटीएफ व पुलिस ने अब तक कुल करीब 80 आरोपितों को गिरफ्तार किया है। एसटीएफ ने मंगलवार को मेरठ में सॉल्वर गैंग के सरगना शकील निवासी कुरड़ी बागपत समेत 23 सदस्यों को गिरफ्तार किया। इनमें 10 सॉल्वर, पांच अभ्यर्थी व आठ दलाल शामिल हैं। गिरोह 2013 से विभिन्न भर्ती परीक्षाओं में सॉल्वर के जरिये गड़बड़ी कराता आ रहा था।

पिछले साल हुई ग्रुप-डी रेलवे की भर्ती में भी कई अभ्यर्थियों की परीक्षा सॉल्वरों ने दी थी। एसटीएफ के सीओ बृजेश कुमार ने बताया कि सरगना शकील ने सिपाही भर्ती परीक्षा में 70 अभ्यर्थियों से डील करने की बात स्वीकार की है। एक अभ्यर्थी से आठ लाख रुपये तक वसूले जाते थे। इनमें सॉल्वर को दो लाख रुपये मिलते थे।

आरोपितों के कब्जे से लैपटॉप, प्रिंटर, 26 मोबाइल व 10 लाख रुपये, 43 अभ्यर्थियों के प्रवेश पत्र, तीन कार, तीन ओएमआर सीट की कार्बन कॉपी व अन्य दस्तावेज बरामद हुए हैं।

पकड़े गए आरोपितों में मेरठ निवासी शकील, युनूस, पानीपत निवासी सुरेश, राहुल राठी शंभू व विकास, रोहतक निवासी मंदीप, सोनीपत निवासी अरविंद व संदीप, बिहार निवासी निरंजन कुमार, बागपत निवासी प्रदीप, मुजफ्फरनगर निवासी संजय चौधरी, बागपत निवासी नीरज व अंकित, दुष्यंत कुमार, संदीप, पानीपत निवासी रविकांत मतलोड़ा, कृष्ण कुमार, मोहित मतलोड़ा, शामली निवासी सचिन शेखपुरा, सोनीपत के अमित कुमार व पानीपत निवासी बलजीत चिनाना को गिरफ्तार किया है।

बनारस से मिली फर्जी आंसरशीट-

अलीगढ़ एसएसपी ने बताया कि योगेश दिल्ली के मुखर्जी नगर में कोचिंग में पढ़ाता है। योगेश को दोस्त सचिन बनारस से आंसरशीट वॉट्सऐप पर देता था, जिसे योगेश जट्टारी में कोचिंग चला रहे अशोक, जितेंद्र, श्याम को उपलब्ध कराता। इनकी कोचिंग में 45-50 विद्यार्थी हैं। अधिकांश से इन लोगों ने सौदा किया। बाकी साथियों ने भी अपने क्षेत्रों में रुपये वसूले। पेपर लीक न होने से इस बार आंसरशीट नहीं मिल पाई, इसलिए फर्जी आंसरशीट अभ्यर्थियों को दे दी।

मेरठ व गाजियाबाद में तैनात दो पुलिसकर्मी भी गिरफ्तार-

सहारनपुर में पुलिस ने दो पुलिसकर्मियों सहित 11 युवकों को दबोचकर इनके कब्जे से 97 हजार रुपये, मोबाइल फोन, पहचान-पत्र बरामद किया है। गिरफ्तार पुलिस कर्मियों में एक मेरठ पुलिस विभाग में बाबू बिजेन्दर कुमार है तो दूसरा गाजियाबाद फायर सर्विस में तैनात दीपक है।

उप्र पुलिस भर्ती परीक्षा के दूसरे दिन अभ्यर्थियों पर टूटी आफत, छह की मौत-

उप्र पुलिस भर्ती परीक्षा के दूसरे और अंतिम दिन मंगलवार को भी अभ्यर्थियों के लिए आफतभरा रहा। प्रदेश में विभिन्न हादसों में छह अभ्यर्थियों की मौत हो गई जबकि कई घायल हो गए। वहीं देवरिया में गुस्साए युवकों ने बस नहीं मिलने पर पांच बसों के शीशे तोड़ दिए। रेलवे स्टेशन के पास भी पथराव किया गया।

चौरीचौरा एक्सप्रेस पर टूटा परीक्षार्थियों का कहर-

गोरखपुर से कानपुर आ रही चौरीचौरा एक्सप्रेस पुलिस भर्ती के परीक्षार्थियों के गुस्से की भेंट चढ़ गई। सोमवार की रात गोरखपुर से चली ट्रेन पर देवरिया के आगे के परीक्षार्थियों ने पथराव कर सभी वातानुकूलित कोचों के शीशे तोड़ दिए। रेलवे दावा कर रहा है कि युवक सीट न मिलने से गुस्सा गए और पथराव कर दिया, वहीं यात्रियों का कहना है कि एसी फेल हो गया था, इसलिए परीक्षार्थियों ने तोड़फोड़ कर दी।

चौरीचौरा एक्सप्रेस सोमवार की रात पौने बारह बजे गोरखपुर से कानपुर के लिए रवाना हुई। ट्रेन में बड़ी संख्या में पुलिस भर्ती परीक्षा के परीक्षार्थी भी चढ़े थे। उन्होंने एसी कोच भी नहीं छोड़ा।

रात देवरिया पहुंचने से पहले एसी कोच में सवार छात्र बेकाबू हो गए और कोच के शीशे तोड़ने शुरू कर दिये। परीक्षार्थियों ने फर्स्ट एसी, सेकेंड एसी के एक-एक और थर्ड एसी के दोनों कोच की करीब 90 फीसद खिड़कियों के कांच तोड़ डाले।

सेंट्रल स्टेशन के चीफ डिपो ऑफिसर राहुल चौधरी ने बताया कि परीक्षार्थियों ने सभी एसी कोच पर कब्जा कर लिया था। दूसरी ओर देवरिया जिले में मंगलवार सुबह भर्ती में हिस्सा लेने आए युवकों ने जमकर हंगामा किया। बस न मिलने पर रोडवेज बस स्टेशन गेट पर ही रोडवेज की पांच बसों के शीशे तोड़ दिए।

You may also like

1 साल के बाद वापसी कर रहे लसिथ मलिंगा ने रचा इतिहास, तोड़ डाले एक साथ 3 विश्व रिकॉर्ड

आज हम एक ऐसे दिग्‍गज खिलाड़ी की बात