Home > धर्म > सुबह उठते ही पढ़ ले यह चमत्कारी मंत्र, सफलता चूमेगी आपके कदम

सुबह उठते ही पढ़ ले यह चमत्कारी मंत्र, सफलता चूमेगी आपके कदम

कहते हैं अगर चाहो तो सब कुछ हांसिल किया जा सकता है. ऐसे में अगर आप भी चाहते हैं कि आपका हर दिन शुभ और सफलता से भरा हुआ हो तो बिस्तर से उठते ही अपने दोनों हाथों को आपस में रगड़ कर चेहरे पर लगाएं उसके बाद नीचे दिए गए 13 मंत्रों में से किसी भी 1 मंत्र को बोलकर अपने दिन की शुरुआत करें. इससे आपका दिन उन्नतिदायक और प्रसन्नतापूर्वक व्यतीत होगा. अब आइए जानते हैं उन मन्त्रों को.सुबह उठते ही पढ़ ले यह चमत्कारी मंत्र, सफलता चूमेगी आपके कदम

मंत्र-
1 . ॐ मंगलम् भगवान विष्णु: मंगलम् गरूड़ध्वज:।
मंगलम् पुण्डरीकांक्ष: मंगलाय तनो हरि।।

2 . कराग्रे वसते लक्ष्मी: कर मध्ये सरस्वती।
करमूले गोविन्दाय, प्रभाते कर दर्शनम्।

3 . गुरुर्ब्रह्मा, गुरुर्विष्णु, गुरुर्देवो महेश्वर:।
गुरु साक्षात् परब्रह्मा तस्मै श्री गुरुवे नम:

4 . करारविन्देन पदारविन्दं, मुखारविन्दे विनिवेशयन्तम्।
वटय पत्रस्य पुटेशयानं, बालं मुकुन्दं मनसा स्मरामि।।

5. सी‍ताराम चरण कमलेभ्योनम: राधा-कृष्ण-चरण कमलेभ्योनम:।

6 . राम रामेति रामेति रमे रामे मनोरमै: सहस्त्रनाम तत्तुल्यं श्री रामनाम वरानने।

7 . माता रामो मम् पिता रामचन्द्र:
स्वामी रामो ममत्सखा सखा रामचन्द्र:
सर्वस्व में रामचन्द्रो दयालु नान्यं जाने नैव जाने न जाने।।1।।

8. दक्षिणे लक्ष्मणो यस्त वामेच जनकात्मजा,
पुरतोमारुतिर्यस्य तं वंदे रघुनंदम्।

9 . लोकाभिरामं रण रंग धीरं राजीव नेत्रम् रघुवंश नाथम्।
कारुण्य रूपम् करुणा करम् श्री रामचंद्रम शरणं प्रपद्ये।

10. आपदा मम हरतारं दातारम् सर्व सम्पदाम्
लोकाभिरामम् श्री रामम् भूयो भूयो नमाम्यहं।

11. रामाय रामभद्राय रामचंद्राय वेधसे
रघुनाथाय नाथाय सीतापतये नम:।

12. श्री रामचंद्र चरणौ मनसास्मरासि,
श्री रामचंद्र चरणौ वचसा गृणोमि।
श्री रामचंद्र चरणौ शिरसा नमामि,
श्री रामचंद्र चरणौ शरणम् प्रपद्धे:।।

13. त्वमेव माता च पिता त्वमेव। त्वमेव बन्धुश्च सखा त्वमेव।
त्वमेव विद्या द्रविणं त्वमेव। त्वमेव सर्वम् ममदेव देव।

Loading...

Check Also

अगर सपने में दिख जाए सांप तो समझ लीजिए भविष्य के यह संकेत

दुनिया में कई ऐसे लोग हैं जो सपनो में भगवान को देखते हैं लेकिन कई …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com