“गुल बत्ती कमरे की हो जाये तो…. ऐसे मज़े लो”

Loading...

जी हाँ, आपने ठीक पढ़ा ये गाना “गुल बत्ती कमरे की हो जाये तो….” एकदम ठीक तरह से महिलाओं के उपर एकदम सटीक बैठता है जब वोह अपने पार्टनर के साथ सम्भोग करने के लिए लालायित रहती है|अक्सर देखा गया है कि जब रात रोमांटिक होती है और  महिलाएं भी सम्भोग के मूड में आ जाती हैं और सेक्सी कपड़े पहन वो अपने पार्टनर को रिझाती हैं और फिर धीरे-धीरे शुरू होता है बत्ती गुल करने का सिलसिला  शुरू कर देती हैं जिससे की वो अपने साथी को प्यार के सागर में डुबो सकें।

सुनिए जी - "गुल बत्ती कमरे की हो जाये तो....मज़े लो"

 

…और अब शुरू होता हैं सम्भोग के महासागर में गोते लगने की

धीरे-धीरे जैसे महिलाओं के उपर सम्भोग का भूत सवार होते जाता है वैसे-वैसे वो अपनी प्रतिक्रिया में तेजी लाने लगती हैं एवं अपने साथ को सम्भोग रस में डुबोना लगती हैं | जैसे-जैसे साथी उस रस में लीं होता जाता है वैसे-वैसे उन दोनों के कदम सम्भोग के महासागर की बढ़ते रहते हैं|लेकिन बत्ती बंद… पर क्यों? क्या आपने कभी ऐसा सोचा है? शायद नहीं… आज हम आपको बताएंगे कि आखिर क्यों महिलाएं सेक्स करते समय लाइट बंद कर देती हैं।

सुनिए जी - "गुल बत्ती कमरे की हो जाये तो....मज़े लो"

एक सर्वेक्षण में पता चला है कि ज्यादातर महिलाएं अंधेरे में सेक्स करती है। लेकिन इसके पीछे कारण क्या है। अध्ययन में पता चला है कि महिलाएं सेक्स करते समय यह नहीं चाहती कि उनका पार्टनर उनके फिगर को देखे।

सुनिए जी - "गुल बत्ती कमरे की हो जाये तो....मज़े लो"

सर्वे में पता चला कि 60 फीसदी महिलाएं अंधेरे में इसलिए करती हैं पाकि उनके पति उनके खराब फिगर को नहीं देखें।यह सर्वे ऑनलाइन करवाया गया। इस सर्वे में 73 फीसदी महिलाऔं ने माना कि ज्यादा वजन के कारण वे सेक्स का भरपूर मजा नहीं ले पाती और बेडौल काया को दिखाने में उन्हें शर्म आती है।

Loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com