सीएम योगी और विदेश मंत्री ने किया प्रवासी भारतीय सम्मेलन का शुभारंभ

Loading...

वाराणसी। वाराणसी में पहली बार आयोजित इस सम्मेलन में दुनिया के 75 देशों के करीब तीन हजार प्रवासी मेहमान शामिल होंगे। 21 से 23 जनवरी तक होने वाले प्रवासी भारतीय सम्मेलन के लिए बड़ा लालपुर स्टेडियम में वाराणसी चित्रावली लाउंज बनाया गया है। इसमें काशी के बारे में बताया जाएगा। तीन दिवसीय प्रवासी भारतीय सम्मेलन का शुभारंभ हो गया है। बड़ालालपुर स्थित ट्रेड फेसिलिटी सेंटर में सीएम योगी और विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने इसका औपचारिक शुभारंभ किया। हालांकि मेहमानों के साथ गंगा तट पर आरती से रविवार शाम प्रवासी भारती सम्मेलन का शुभारंभ हो गया था। लेकिन इसकी औपचारिक शुरुआत की गई।
ये भी पढ़े :-यूजीसी का बड़ा फैसला, देश के इन शिक्षण संस्थानों में सामान्य वर्ग को नहीं मिलेगा आरक्षण 
गंगा सेवा निधि अध्यक्ष सुशांत मिश्र के अनुसार 21 से 23 जनवरी तक नौ ब्राह्मणों द्वारा रिद्धि-सिद्धि के साथ आरती की जाएगी। 22 जनवरी को विशेष आयोजन मॉरीशस के प्रधानमंत्री के सम्मान में किया गया है। वहीं नमामि गंगे की ओर से दशाश्वमेध घाट पर गंगोत्री सेवा समिति के तत्वावधान में होने वाली गंगा आरती के दौरान अमेरिका से आए 21 सदस्यों ने हिस्सा लिया। राजेश शुक्ला के नेतृत्व में हुए कार्यक्रम में पंडित किशोरी रमण दूबे बाबू महाराज, दिनेश दुबे मौजूद रहे।
ये भी पढ़े :-बैंक घोटाले के मुख्य आरोपी ने छोड़ी भारतीय नागरिकता 
इससे पहले दशाश्वमेध घाट पर रविवार शाम डेढ़ सौ प्रवासियों का दल गंगा आरती देखने पहुंचा। आरती के साथ ही उनके लिए गंगा के बीच लेजर शो का भी आयोजन किया गया था। अब तक इंटरनेट के माध्यम से ही आरती की भव्यता को महसूस करने वाले विभिन्न देशों के भारतीय पहली बार गंगा तट पर साक्षात आरती देख कर भावुक हो उठे।
प्रवासी दल में इंडोनेशिया, मलेशिया, मॉरीशस और सूरीनाम के प्रतिनिधि शामिल थे। दशाश्वमेध घाट पर पहुंचने पर गंगा सेवा निधि की ओर से सभी का पुष्प वर्षा से स्वागत किया गया। भारत सरकार के मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौर, मलयेशिया के राज्य मंत्री डॉ. सुमुगम रगा स्वामी, सचिव रमेश कुमार ने मां गंगा का वैदिक रीति से पूजन किया।

Loading...
loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com