Home > 18+ > सालों से बंद इस वेश्यालय को खोलने पर सामने आए ऐसे नज़ारे को देखेकर सन्य रह गए लोग

सालों से बंद इस वेश्यालय को खोलने पर सामने आए ऐसे नज़ारे को देखेकर सन्य रह गए लोग

कहते हैं वैश्यावृति दुनिया का सबसे पुराना पेशा है लेकिन इस पेशे के बारे में खुल कर बात करने से लोग अक्सर परहेज करते हैं। कई देशों में यह कानूनी है और यौनकर्मी अन्य किसी भी पेशे की तरह सरकार को टैक्स भी चुकाते हैं।

वहीं भारत में देह व्यापार गैरकानूनी नहीं है लेकिन दलाली करना, चकला चलाना और सार्वजनिक जगहों पर ग्राहक ढूंढना अपराध है। वैश्यावृति के लिए मशहूर एशिया के अधिकतर देशों, जैसे थाईलैंड और फिलीपींस में यौनकर्म गैरकानूनी है।

सालों से बंद इस वेश्यालय को खोलने पर सामने आए ऐसे नज़ारे को देखेकर सन्य रह गए लोग

वेश्यालय वह स्थान होता है जहाँ पर पैसे देकर संभोग किया जाता है। वेश्यावृत्ति दुनिया के सबसे पुराने पेशों में से एक है। इसका जिक्र बाइबिल में मिलता है। प्राचीन इजरायल में वेश्यावृत्ति को मूक सहमति मिली हुई थी। द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान जापानी सैनिक हमला करने के बाद जबरदस्ती औरतों को वेश्यावृत्ति के धंधे में धकेलते थे। इनमें सबसे ज्यादा संख्या कोरियाई और चीनी औरतों की थी, जिन्हें युद्ध के दौरान जापान के वेश्यालयों में पहुंचाया गया

OMG: चार साल के बेटे के साथ रेप कर मां ने अपलोड किया वीडियो

देह व्यापार में एम्सटर्डम का रेड लाइट एरिया शायद दुनिया का सबसे मशहूर हिस्सा है। अन्य देशों से विपरीत, जहां लोग छिप छिपा कर रेड लाइट एरिया में जाते हैं, एम्सटर्डम में टूरिस्ट खास तौर से इस इलाके को देखने पहुंचते हैं। बेल्जियम में भी देह व्यापार कानूनी है। फ्रांस और जर्मनी इन दोनों देशों में देह व्यापार को नियंत्रित करने के लिए कड़े नियम हैं। जर्मनी के कुछ शहरों में यौनकर्मियों को सड़कों पर ग्राहक खोजने के लिए खड़े होने की अनुमति नहीं है।

जब खुला 2000 साल पुराना वेश्यालय 

आज से करीब 2000 साल पहले यानि 79 ईस्वी में पश्चिमी इटली का प्राचीन शहर,’Pompeii’ Mount Vesuvius के एक विस्फोटक से दफन हो गया था l 1748 में हुई खुदाई के दौरान ये पूरा शहर पाया गया l इसके साथ ही शहर के निवासियों की निजी संपत्ती भी पाई गई l

‘Pompeii’ में एक मशहूर वेश्यालय भी था, जिसे साल 2006 में आम लोगों के लिए खोल दिया गया l इस वेश्यालय में कुल 10 कमरें हैं और सभी कमरों में पत्थर के बिस्तर बने हैं l बताया जाता है कि इसी पर वेश्याएं अपने ग्राहकों के साथ वक्त बिताती थीं l

जब वेश्यालय खुला तो इस वेश्यालय से कई पॉर्नोग्रफ़िक पेंटिंग्स भी पाई गई हैं, जिससे पता चलता है कि उस वक्त POMPEII में देहव्यापार किस स्तर का होता था L रिर्सच में पाया गया है कि POMPEII में देहव्यापार गैरकानूनी नहीं था, ​लेकिन फ़िर भी कई वेश्याएं सेक्स गुलाम की तरह रखी जाती थी L

कहा ये भी जाता है कि उस वक्त पुरुष जितनी चाहे, उतनी औरतों के साथ सेक्स कर सकते थे, ​लेकिन शादी शुदा महिलाएं सिर्फ़ अपने पति के साथ ही संबंध बनाती थी l

हिन्दू धर्म से जुड़ा हुआ है वेश्यावृति

दुनिया की महान संस्कृतियों में से एक हिन्दू और ग्रीक सभ्यता में सेक्स को ले कर कई बातें कही जाती हैं l हिन्दू धर्म में जहां ‘रति’ को सेक्स की देवी माना जाता है, वहीं ग्रीक सभ्यता में ‘ऐफ्रोडाइट’ को यह पदवी हासिल है l पर इन सब के अलावा वेश्यावृति भी एक ऐसी चीज़ थी, जिसे दुनिया की कई बड़ी संस्कृतियों में आस्था और सम्मान की नज़रों से देखा जाता था l

आज हम आपको कुछ ऐसे प्राचीन तथ्यों के बारे में बता रहे हैं, जो यह साबित करते हैं कि प्राचीन युग के समाज में वेश्यावृति का स्थान काफ़ी पवित्र था l

कहीं आप भी ‘डबल इनकम नो सैक्स’ के चक्कर में तो नहीं, अगर हाँ तो आपके लिए ही है ये खबर…जरुर पढ़े!

धर्म और धार्मिक गतिविधियों के नाम पर की जाने वाली कामुक गतिविधियां पवित्र वेश्यावृति के अंतर्गत आती थी l विद्वानों का कहना है कि इस तरह की गतिविधियों में धन का आदान-प्रदान नहीं होता था l

बहुत से विद्वानों का मानना है कि इसकी शुरुआत सुमेरिया के राजा और प्रेम की देवी Inanna के मिलन से हुई थी l पर इस बात का कोई प्रमाण नहीं है कि उन्होंने कहीं यौन-क्रिया में भाग लिया हो l

Loading...

Check Also

सेक्स के इस मामले में महिलाओं के आस-पास भी नही है पुरुष

वैसे तो कहा जाता है कि सेक्स के मामले में हमेशा ही पुरुष आगे रहते …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com