सवारी बनकर आॅटो रिक्शा में जा रहे थे लुटेरे, पुलिस ने पहनाई हथकड़ी

हवाला कारोबारी के यहां डकैती करने वाले तीन और लुटेरे आज पुलिस के हत्थे चढ़ गए। इनमें मास्टरमाइंड भी शामिल है। 
जयपुर कमिश्नरेट में डीसीपी नार्थ सत्येंद्र कुमार ने बताया कि शास्त्री नगर निवासी विशाल सिंह पहले गिरफ्तार हो चुका था। मास्टरमाइंड भवानी सिंह उम्र 25 साल निवासी गांव चक चारणवास, गोविंदगढ़, चौमूं का है। दूसरा आरोपी चंद्रप्रकाश लखन उर्फ बिट्टू उम्र 21 साल निवासी हरिजन बस्ती, भट्टाबस्ती का है और तीसरा आरोपी विक्की कुमावत उम्र 23 साल निवासी वार्ड नंबर 62, भट्टा बस्ती का रहने वाला है।

सवारी बनकर आॅटो रिक्शा में जा रहे थे लुटेरे, पुलिस ने पहनाई हथकड़ी आज आरोपियों के एक आॅटोरिक्शा से अजमेरी गेट के पास से गुजरने की सूचना कोतवाली थानाप्रभारी अशोक खत्री को मिली थी। इस पर थानाप्रभारी खत्री, एएसआई ओमप्रकाश, शहजाद, कांस्टेबल छीतरमल, दीपक कुमार व अन्य पुलिसकर्मियों की टीम ने आरोपियों को धरदबोचा।आरोपियों के पास से लूटी रकम में से एक लाख रुपए व तीन जिंदा कारतूस बरामद ​किए है। 

सीसीटीवी लगा होने से अनजान बदमाशों ने कर्मचारियों पर हमला किया और…

एएसपी राजेश मील ने बताया कि आरोपियों को पकड़ने के लिए एसीपी कोतवाली सुमित कुमार के निर्देशन में कोतवाली थानाप्रभारी अशोक खत्री व जालुपूरा थानाप्रभारी लिखमाराम के नेतृत्व में टीम गठित की थी और टीमें जयपुर शहर के अलावा भरतपुर, मथुरा व आगरा भेजी गई थी।

इससे तीनों आरोपी भागकर जयपुर आ गए। यहां सूचना मिलने पर पुलिस ने आज इन्हें धरदबोचा।एसीपी सुमित कुमार के मुताबिक वारदात से तीन दिन पहले गैंग ने हवाला कारोबारी के यहां रैकी की। इसके बाद वहां सीसीटीवी कैमरा लगा होने की बात से अनजान बदमाशों ने कल दिनदहाड़े पिस्टल व चाकू दिखाकर दो कर्मचारियों पर हमला किया और तिजोरी में रखे साढ़े तीन लाख रुपए लूटकर भाग निकले। वारदात के बाद इसी सीसीटीवी फुटेज की मदद से पुलिस गैंग में शामिल एक बदमाश तक पहुंच गई।

शादी में तंदूरी रोटी बनाते है लुटेरे

आरोपी विशाल, भवानी व अन्य पेशे से शादी पार्टियों में केटरिंग पार्टी के साथ तंदूरी रोटियां सेंकने का काम करते है। विशाल के खिलाफ पहले भी शास्त्री नगर थाने में लूटपाट व छीनाझपटी के तीन मुकदमों में दर्ज है। 2 नवंबर को दिनदहाड़े लगभग आधा दर्जन बदमाशों ने मिलकर चांदपोल स्थित बाबा हरिश्चंद्र मार्ग में रामचंद्र की गली स्थित हवाला कारोबारी की फर्म पर घुसकर वहां मौजूद सिरोही निवासी कर्मचारी भौमाराम प्रजापति व रणछोड़ पर ताबड़तोड़ हमला कर दिया। उन्हें पिस्टल व हथियार दिखाए और तिजोरी में रखे साढ़े तीन लाख रुपए लूट लिए। फिर अपनी पल्सर बाइक, एक्टिवा स्कूटी और एक अन्य बाइक से भाग निकले। 

Facebook Comments

You may also like

राहुल-अखिलेश की कोशिश को लगा बड़ा झटका, अब मोदी के खिलाफ कैसे होगी लड़ाई

नई दिल्ली. 2019 की लड़ाई के लिए विपक्ष भले