सरकार का बड़ा फैसला: राजस्थान में 70 साल से अधिक उम्र के नेताओं को टिकट नहीं देगी भाजपा

- in राजनीति, राजस्थान

जयपुर । राजस्थान विधानसभा चुनाव में भाजपा 70 साल से अधिक उम्र के नेताओं को टिकट नहीं देगी । ऐसे नेताओं को अभी से चुनाव नहीं लड़ने का मानस बनाने के लिए कह दिया गया है। भाजपा की इस नीति के चलते विधानसभा अध्यक्ष व गृहमंत्री सहित एक दर्जन वर्तमान विधायकों के टिकट कट सकते हैं।सरकार का बड़ा फैसला: राजस्थान में 70 साल से अधिक उम्र के नेताओं को टिकट नहीं देगी भाजपा

सूत्रों के अनुसार वसुंधरा राजे ने 70 साल से अधिक उम्र के वर्तमान विधायकों को साफ कह दिया है कि चुनाव में उन्हें टिकट नहीं दिया जाएगा, लेकिन यदि फिर से सरकार बनती है तो उन्हें राजनीतिक नियुक्तियों के माध्यम से सत्ता में समायोजित किया जाएगा। वसुंधरा राजे ने इसी तरह की बात पार्टी पदाधिकारियों को कही है।

भाजपा के प्रदेश संगठन महामंत्री चन्द्रशेखर ने भी हाल ही में 70 साल से अधिक उम्र के नेताओं को अब पार्टी के लिए काम करने की सलाह देते हुए कहा है कि विधानसभा चुनाव में युवाओं को अधिक अवसर दिया जाना चाहिए। चन्द्रशेखर इन दिनों जिलावार नेताओं से मुलाकात कर रहे हैं।

ये हो सकते हैं टिकट की दौड़ से बाहर
विधानसभा अध्यक्ष कैलाश मेघवाल, गृहमंत्री गुलाबचंद कटारिया, जनजाति क्षेत्रीय विकास मंत्री नंदलाल मीणा, संसदीय सचिव लादुराम विश्नोई, विधायक सुंदरलाल, किशनाराम नाई, तरूण राय कागा, सूर्यकांता व्यास, गोपाल जोशी, जयनारायण पूनिया व गुरजंट ¨सह सहित कई वरिष्ठ नेताओं को टिकट की दौड़ से बाहर होना पड़ सकता है।

दो ने की चुनाव नहीं लड़ने की घोषणा, कुछ अब भी जुगाड़ में

विधानसभा अध्यक्ष कैलाश मेघवाल और तरूण राय कागा ने पार्टी नेतृत्व के मानस को देखते हुए आगामी विधानसभा चुनाव नहीं लड़ने की घोषणा कर दी है, लेकिन जनजाति क्षेत्रीय विकास मंत्री नंदलाल मीणा सहित अन्य विधायक और पार्टी नेता टिकट की दौड़ से बाहर होने को तैयार नहीं हैं। ये नेता केंद्रीय नेतृत्व और मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे तक अपने समर्थकों के माध्यम से यह संदेश पहुंचाने में जुटे हैं कि यदि उन्हें टिकट नहीं दिया गया तो पार्टी को नुकसान हो सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

बसपा तैयार कर रही लोकसभा सीटों पर प्रत्याशियों की सूची

भाजपा के खिलाफ विपक्षियों के महागठबंधन से अलग