CIC ने कहा सरकारी विभाग साझा करें नोटबंदी की डिटेल, ऐसा किला न बनाएं कि बाहुबली भी न तोड़ पाए

- in कारोबार

नोटबंदी के बारे में जानकारी के अभाव में पारदर्शिता पैनल की ओर से पहली टिप्पणी के रुप में सूचना आयुक्त श्रीधर आचार्युलू ने कहा कि सूचना को रोकना का कोई भी प्रयास अर्थव्यवस्था के बारे में गंभीर संदेह पैदा करेगा। उन्होंने कहा कि निर्णयों के चारों ओर स्टील का किला बनाने की पुरानी आदत को बदलना होगा।

CIC ने कहा सरकारी विभाग साझा करें नोटबंदी की डिटेल, ऐसा किला न बनाएं कि बाहुबली भी न तोड़ पाए

उन्होंने कहा, “एक ऐसे लोकतांत्रिक देश में जहां कानून का राज है, नोटबंदी जैसे सार्वजनिक मामले में चारों ओर लोहे के ऐसे किले बनाने के रवैये को स्वीकार करना थोड़ा मुश्किल है, जिसे बाहुबली भी न तोड़ पाएं।” वो यहां पर साल 2015 की ब्लॉकबस्टर फिल्म बाहुबली का उल्लेख कर रहे थे।

ये भी पढ़े: राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के असामान्य सेक्स व्यवहार को लेकर हुआ बड़ा खुलासा ये रहे सबूत…

केन्द्रीय सूचना आयोग का यह बयान ऐसे समय में काफी मायने रखता है जब प्रधानमंत्री कार्यालय और भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) नोटबंदी के संबंध में दाखिल की गईं आरटीआई का जवाब देने से इनकार कर रहे हैं। गौरतलब है कि केंद्र सरकार ने नोटबंदी का फैसला बीते साल 8 नवंबर को लिया गया था जिसमें 500 और 1000 रुपए के पुराने नोटों को अमान्य कर दिया गया। यह राशि उस वक्त बाजार में प्रचलित कुल करेंसी का 86 फीसद हिस्सा थी।

 
 
=>
=>
loading...

You may also like

महंगा हो सकता है बैंकों से लोन लेना, बढ़ेंगी ब्याज दरें : RBI

नई दिल्ली: आपका लोन महंगा हो सकता है. आरबीआई की