संकाय सदस्य से लेकर सफाई कर्मियों तक को दी जा चुकी है कोविड ट्रेनिंग

– अब तक 40000 से ज्यादा को दी जा चुकी है ऑनलाइन ट्रेनिंग

Loading...

-केजीएमयू में मार्च से चल रहे विभिन्न प्रशिक्षण कार्यक्रम 

सेहत टाइम्स ब्यूरोलखनऊ। किंग जॉर्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय  अपने सभी स्वास्थ्य कर्मियों के लिए मार्च 2020 से विभिन्न प्रशिक्षण कार्यक्रम जैसे कि संक्रमण से बचाव और नियंत्रण, डायलिसिस प्रशिक्षण, इमरजेंसी और ट्रॉमा के रोगियों के प्रबंधन हेतु प्रशिक्षण एवं  वेंटिलेटर प्रशिक्षण संचालित करा रहा है।

प्रशिक्षण  में प्रशिक्षु के तौर पर संकाय सदस्य, रेजिडेंट, प्रशिक्षु, नर्स, फार्मासिस्ट, तकनीशियन, वार्ड बॉय, वार्ड आया, सफाईकर्मी, एम्बुलेंस चालक, गार्ड, सभी प्रशासनिक कार्यालयों के कर्मचारी, छात्रावास और अन्य कार्य क्षेत्र के कर्मचारी सम्मलित हैं।  उन्हें नियमित रूप से प्रशिक्षित किया जा रहा है।  इसके अलावा, जब वे अंत में कोविड के लिए वार्डों में तैनात होते हैं, तो सुदृढीकरण विभागों के संबंधित प्रमुख द्वारा किया जाता है।

जहां तक ​​संक्रमण की रोकथाम और नियंत्रण प्रशिक्षण का संबंध है, अब तक केजीएमयू के कुल 7182 स्वास्थ्यकर्मियों को सीधे तौर पर प्रशिक्षित किया जा चुका है।  अब तक इनमें से कोई भी अप्रशिक्षित नहीं है।

प्रशिक्षण का मूल उद्देश्य यह है कि हेल्थकेयर वर्कर कोविड पोस्टिंग के दौरान और बाद में संक्रमण की रोकथाम एवं नियंत्रण कर स्वयं को बचाने के साथ-साथ अपने परिवारों को भी बचा सकें।  इसका उद्देश्य उन्हें COVID वार्ड में काम करने के लिए तैयार करना भी है।

प्रशिक्षण मॉड्यूल विश्व स्वास्थ्य संगठन, सीडीसी, स्वास्थ्य और परिवार कल्याण दिशानिर्देश और केजीएमयू के अपने प्रोटोकॉल के अनुसार है।

यह आसान व्यावहारिक भाषा में डिजाइन किया गया एक पाठ्यक्रम है।  प्रशिक्षण पाठ्यक्रम इंटरैक्टिव व्याख्यान, वीडियो प्रदर्शन, लाइव प्रदर्शन और प्रतिभागियों की भागीदारी के रूप में छह घंटे का मॉड्यूल है।

पाठ्यक्रम डॉ विनोद जैन और उनकी टीम द्वारा तैयार किया गया है।  प्रशिक्षण के उपरांत मूल्यांकन  बहुविकल्पीय प्रश्न एवं सत्य एवं असत्य कथनों के आधार पर किया जाता है।

प्रशिक्षण पूर्ण होने पर  सभी प्रतिभागियों को  प्रतिभागिता का प्रमाण पत्र प्रदान किया जाता है।

यह भी उल्लेखनीय है कि प्रशिक्षण सामग्री किंग जॉर्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय की वेबसाइट के साथ-साथ चिकित्सा सेतु ऐप पर भी उपलब्ध है।

अब तक कुल 110 राउंड की ट्रेनिंग सम्पन्न की जा चुकी है।इसके साथ ही डायलिसिस, इमरजेंसी एवं ट्रॉमा देखभाल और वेंटिलेटरी यूनिटों में शामिल स्वास्थ्यकर्मियों को उनके प्रभारी द्वारा प्रशिक्षण प्रदान किया जा रहा है।

यह भी उल्लेख करना उचित होगा कि संक्रमण नियंत्रण और रोकथाम अभ्यास प्रशिक्षण ऑनलाइन मंच के माध्यम से विभिन्न डॉक्टरों, नर्सों और साथ ही आम जनमानस को भी प्रदान की जा रही है।इस तरह के तीन सेशन यू ट्यूब के माध्यम से डॉ0 विनोद जैन और उनकी टीम द्वारा आयोजित किए जा चुके हैं।लगभग 40,000 से अधिक व्यक्तियों को ऑनलाइन प्रशिक्षित किया जा चुका है।

loading...
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Loading...