श्रीलंका के छक्के छुड़ाने के लिए ‘विराट सेना’ ने कुछ ऐसी की है तैयारी

- in खेल
श्रीलंका के खिलाफ 16 नवंबर से शुरू होने वाली तीन टेस्ट मैचों के लिए टीम इंडिया ने सोमवार से यहां अभ्यास शुरू कर दिया। पहले अभ्यास सत्र में भारतीय बल्लेबाजों ने शॉर्ट पिच गेंद और स्पिनरों के खिलाफ रिवर्स स्वीप खेलने पर ज्यादा जोर दिया। भारतीय टीम का सपोर्ट स्टाफ कप्तान विराट कोहली, अजिंक्य रहाणे, शिखर धवन, लोकेश राहुल को थ्रो डाउन के जरिए भी गेंदबाजी करता नजर आया। रहाणे ने सबसे ज्यादा आधे घंटे शॉर्टपिच गेंद खेलने का अभ्यास किया। 
 

श्रीलंका के छक्के छुड़ाने के लिए 'विराट सेना' ने कुछ ऐसी की है तैयारीभारतीय टीम ने श्रीलंका के साथ तीन टेस्ट मैचों के अलावा तीन वनडे और इतने ही टी-20 मैच खेलने हैं। भारत को इस दौरे के बाद दक्षिण अफ्रीका का दो महीने का लंबा दौरा भी करना है जहां तेज पिचों पर शॉर्टपिच गेंद बड़ी चुनौती होगी। भारतीय टीम ने अपने बल्लेबाजी क्रम के लिहाज से अभ्यास किया। राहुल और शिखर धवन ने बारी-बारी से तेज गेंदबाजी और स्पिन का सामना किया। दाएं और बाएं हाथ के बल्लेबाजों की इस जोड़ी ने कई बार रिवर्स स्वीप खेले। भारतीय बल्लेबाजों का प्रयास कुछ गैर-पारंपरिक शॉट खेलने पर भी रहा। संभवत: ऐसा श्रीलंकाई टीम में मौजूद अनुभवी स्पिनर रंगना हेराथ और लक्षण संदकन का बेहतर ढंग से सामना करने के लिए किया गया।
 
ढाई घंटे के अभ्यास सत्र में कोहली पूरी लय में नजर आए। उन्होंने स्ट्रेचिंग के अलावा एक पांव पर जंप करने का भी अभ्यास किया। सौराष्ट्र के बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा और रविंद्र जडेजा जिन्होंने रविवार को गुजरात के खिलाफ रणजी मैच में हिस्सा लिया था। उन्होंने इस अभ्यास सत्र में विश्राम किया। ईडन गार्डन में वनडे में सर्वाधिक 264 रन की पारी खेलने वाले रोहित शर्मा ने पिच का मुआयना किया। हेड कोच रवि शास्त्री और अजिंक्य रहाणे ने भी बाद में अलग से जाकर पिच को देखा। 
 
विश्व रिकॉर्ड की बराबरी का मौका 
इस साल लगातार आठ सीरीज जीत चुकी टीम इंडिया के पास एक और सीरीज जीतकर नौ सीरीज जीत के साथ ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के विश्व रिकॉर्ड की बराबरी करने का मौका रहेगा। पिछले वर्ष भी टीम इंडिया ने लगातार आठ टेस्ट मैच जीते थे। टेस्ट में नंबर एक रैंकिंग की टीम ने 2014-15 में ऑस्ट्रेलिया दौरे में मिली 0-2 की हार के बाद कोई सीरीज नहीं गंवाई है। श्रीलंका के खिलाफ पिछली सीरीज में भारत ने उसके मैदानों पर क्लीन स्वीप किया था।  
 

सबसे तेज पांच हजारी बन सकते हैं कोहली 
कप्तान विराट कोहली के पास इस सीरीज में सबसे तेज पांच हजार रन पूरे करने वाले भारतीय बल्लेबाज होने का भी अवसर रहेगा। कोहली ने अब तक 60 मैचों में 4658 रन बनाए हैं और वह पांच हजार का आंकड़ा छूने से महज 342 रन दूर हैं। दिग्गज सचिन तेंदुलकर ने 67 मैचों में पांच हजार रन बनाए थे। 
 

विराट के पास सौरव को पछाड़ने का अवसर 
विराट कोहली इस सीरीज में कप्तानी के मामले में भी धोनी के बाद भारत के दूसरे सबसे सफल कप्तान हो सकते हैं। कोहली ने अब तक अपनी कप्तानी में खेले गए 29 टेस्ट मैचों में 19 जीते हैं जबकि सौरव गांगुली ने 49 मैचों में 21 जीत अपने नाम की थी। अगर भारतीय टीम इस सीरीज में क्लीन स्वीप करने में सफल रहती है तो कप्तान कोहली के खाते में 22 जीत आ जाएंगी। कप्तान के रूप में धोनी ने 60 मैचों में 27 जीत दर्ज की हैं। 
 

अश्विन तीन सौ विकेट के करीब  
टेस्ट सीरीज के लिए टीम में वापसी कर रहे स्पिनर रविचंद्रन अश्विन अपने 300 विकेट से महज 8 शिकार दूर हैं। उन्होंने अब तक 52 मैचों में 292 विकेट लिए हैं। यदि वह इस सीरीज में तीन सौ विकेट पूरा करते हैं तो ऑस्ट्रेलिया के डेनिस लिली का सबसे तेज तीन सौ विकेट लेने का रिकॉर्ड तोड़ सकते हैं जिन्होंने 56 मैचों में ऐसा किया था। भारतीय रिकॉर्ड अनिल कुंबले के नाम हैं जिन्होंने 66 मैचों में यह उपलब्धि हासिल की थी।  
 
 
loading...
=>

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

six + 11 =

You may also like

IND Vs SL: इस मामले में कोहली ने की कपिल के अनचाहे रिकॉर्ड की बराबरी

कोलकाता। श्रीलंका के खिलाफ गुरुवार को शुरू हुआ पहला