श्रद्धांजली: लंबी बीमारी के बाद नारायण दत्त तिवारी का मैक्स अस्पताल में निधन

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश और उत्तराखण्ड के मुख्यमंत्री और वरिष्ठ नेता नारायण दत्त तिवारी का आज लंबी बीमारी के बाद निधन हो गया। तिवारी ब्रेन स्ट्रोक आने के कारण 29 सितंबर 2017 से दिल्ली के साकेत स्थित मैक्स अस्पताल में भर्ती थे। उनके निधन से राजनीति पार्टियों में शोक की लहर दौड़ गई।
गौरतलब है कि पिछले छह महीने से उनकी हालत काफी नाजुक थी। इस दौरान कई बार उनके निधन की खबरें भी आईं। लेकिन आज अपने 92वां जन्मदिन के मौके पर उन्होंने आखिरी सांस ली। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने ट्वीट कर उनके प्रति अपनी संवेदनाएं व्यक्त की और उनके निधन को राजनीतिक जगत की बड़ी क्षति बताया।
ज्ञात हो कि नारायण दत्त तिवारी देश के पहले ऐसे राजनीतिज्ञ थे, जिन्हें दो-दो राज्य का मुख्यमंत्री होने का गौरव प्राप्त हुआ। वह नेहरू-गांधी के दौर के उन चंद दुर्लभ नेताओं में थे, जिन्होंने आजादी की लड़ाई में सक्रिय योगदान दिया। केंद्र में वित्त, विदेश, उद्योग, श्रम सरीखे अहम मंत्रालयों की कमान संभाल चुके एनडी तिवारी को जब उत्तराखंड सरीखे छोटे राज्य की कमान सौंपी गई तो उत्तराखंड की आंदोलनकारी शक्तियां असहज और स्तब्ध थी।
उनके अनुयायियों ने एनडी के लिए विकास पुरुष की उपमा गढ़ी। उनके पक्ष और विपक्ष में बैठे प्रतिद्वंद्वी भी उत्तराखंड के विकास में एनडी के योगदान की दाद देते हैं। मुख्यमंत्री बनने के बाद एनडी ने अपने केंद्रीय रिश्तों के दम पर निवेशकों को उत्तराखंड आने को विवश किया। राजमार्गों और सर्किल मार्गों को रिकॉर्ड समय में तैयार कराया। नये राज्य की तरक्की उनके विजन से ही उनके उत्तराधिकारी आगे की राह तैयार करते आए हैं।

Loading...

Check Also

प्रगतिशील समाजवादी पार्टी कर सकती है भाजपा से गठबंधन...

प्रगतिशील समाजवादी पार्टी कर सकती है भाजपा से गठबंधन…

यूपी के कानपुर में प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (प्रसपा) लोहिया के राष्ट्रीय प्रवक्ता प्रशांत पाठक का कहना …

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com