वीडियो: पश्चिम बंगाल में इमाम की हरकतों से नाराज लोगों ने उसे जमकर लताड़ा, चारो तरफ मचा हडकंप

भारत एक ऐसा देश है जो धार्मिक विविधताओं से भरा हुआ है, हमारे देश में सभी धर्म के लोग प्रेम और सौहार्द से रहते हैं, लेकिन कुछ लोग इस धर्म के नाम पर नफरत का बीज बोकर अपना फायदा करने में लगे रहते हैं ये लोग हमेशा देश को धर्म, संप्रदाय, पंथ और जाति के नाम बांटने की बात करते हैं. ऐसे लोग ना तो भारत के संविधान में भरोसा रखते हैं और ना ही भारत की संस्कृति में जिसके तहत सभी धर्मों के लोग एक साथ उठते बैठते हैं और भाई चारे के साथ एक दूसरे से अपनी थाली का निवाला भी साझा करते हैं.श्चिम बंगाल में इमाम की हरकतों से नाराज लोगों ने उसे

मगर कुछ धर्म के ठेकेदार अपने व्यक्तिगत फायदे के लिए समाज को बांटने और तोड़ने का काम करते हैं. इन ठेकेदारों को सबक सिखाने की जरूरत है, ये खुद को लोकतान्त्रिक सरकार और संविधान से ऊपर समझते हैं. ऐसे ही धर्म के ठेकेदारों में एक है, टीपू सुल्तान मस्जिद का इमाम बरकती, इमाम बरकती पश्चिम बंगाल में रहते हैं और अक्सर अनाप सनाप फतवे जारी करते रहते हैं.

इमाम बरकती की हरकतों से गुस्साए लोग :

ये अपने फतवों में दी गए आदेश में यह भी नहीं देखते कि ये आदेश लोकतंत्र के लिए ठीक है या नहीं, संविधान के लिए उचित है या नहीं. ये बस अपने फायदे और कई बार तो महज भौकाल के लिए फतवे जारी करते हैं. साल 2014 में इमाम बरकती ने पीएम मोदी के सिर और दाढ़ी का बाल छीलने वाले को 25 लाख रूपये का इनाम देने का फतवा जारी किया था. आपको बता दें कि इमाम पहले लाल बत्ती वाले पद पर थे मगर अब उनके पास लाल बत्ती का पद नहीं है फिर भी वह लाल बत्ती नहीं छोड़ रहे हैं.

ये भी पढ़े: अभी-अभी : मचा हाहाकार, तीन साल पूरे होने पर पीएम मोदी के लिए आई सबसे बुरी खबर, पूरे देश में…

एक तरफ पीएम मोदी और केंद्र सरकार वीआईपी कल्चर खत्म करने के लिए पूरे देश में सभी अफसरों और माननीयों से लाल बत्ती त्यागने का अनुरोध कर रहे हैं और पूरा देश उनकी इस पहल को खुशी खुशी स्वीकार कर रहा है, वहीँ ये इमाम लाल बत्ती से मोह नहीं त्याग पा रहे हैं, आखिर धर्म गुरुओं को लाल बत्ती और शानो शौकत की क्या जरूरत है. एक धर्म गुरु को धार्मिक मामले में अपने सुझाव देने चाहिए उन्हें सरकारी और प्रशासनिक मामलों में दखलंदाजी नहीं करनी चाहिए.

इमाम बरकती की ऐसी हरकतों से गुस्साए कुछ लोगों ने शनिवार 13 मई को उनपर हमला कर दिया इसमें हिन्दू और मुस्लिम दोनों सामुदा के लोग शामिल थे, बताया जा रहा है कि ये लोग बरकती के बुरे आचरण, बात बात पर बिना वजह फतवे जारी करने और लाइव टीवी डिबेट में मां बहन की गालियां देने के कारण नाराज थे. इस मारपीट और हाथापाई का वीडियो ईटीवी बांग्ला ने अपने youtube चैनल पर अपलोड किया है जिसे लोग खूब देख रहे हैं.

You may also like

आज का राशिफल और पंचांग: 17 जुलाई दिन मंगलवार, जानिए किसके उपर होने वाली है प्रभु की कृपा

।।आज का पञ्चाङ्ग।। आप सभी का मंगल हो 17