शिवपाल यादव ने अखिलेश को लेकर दिया बड़ा संकेत

जुबिली स्पेशल डेस्क
लखनऊ। उत्तर प्रदेश में बीजेपी की सरकार है। हालांकि बीजेपी को रोकने के लिए सपा ने अभी से कमर कस ली है। 2022 में होने वाले विधान सभा चुनाव को देखते हुए अखिलेश लगातार अपनी पार्टी में बदलाव कर रहे हैं। दूसरी ओर सपा से अलग हो चुके शिवपाल यादव को लेकर कयासों का दौर जारी है।
काफी समय से शिवपाल-अखिलेश के बीच चली आ रही रार अब खत्म होती दिख रही है। दरअसल हाल के दिनों में दोनों के बीच सबकुछ ठीक होता हुआ नजर आ रहा है। हालांकि शिवपाल यादव सपा में दोबारा शामिल होने के पक्ष में नजर नहीं आ रहे हैं लेकिन सपा के साथ उनकी पार्टी प्रसपा गठबंधन करने को तैयार है। शिवपाल ने इसका संकेत एक बार फिर दिया है।

ये भी पढ़े: बिहार : बीजेपी की सहयोगी पार्टी ने भी वर्चुअल चुनाव प्रचार का किया विरोध
ये भी पढ़े: कुछ इस तरह से बॉलीवुड सेलेब्स ने स्वतंत्रता दिवस की बधाई
ये भी पढ़े: नागालैंड में उठी अलग झंडे और संविधान की मांग
स्वतंत्रता दिवस की 74वीं वर्षगांठ के अवसर पर प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल यादव इटावा में बड़ा बयान दिया है। एक वेब साइड्स की खबर के अनुसार शिवपाल ने कहा है कि समाजवादी एक हो जाएं और इसके लिए हमने सब कुछ त्याग करने के लिए कह दिया है। फिर भी अगर ऐसा नहीं होता है तो फिर जो जनता कहेगी वह करेंगे।
शिवपाल यादव ने ट्वीट कर कहा कि चौधरी चरण सिंह डिग्री कॉलेज, हेंवरा, इटावा में स्वतंत्रता दिवस पर ध्वजारोहण किया। तर्क, सहिष्णुता, मानवता की उर्वर जमीन पर हमारे लोकतंत्र का पौधा फले-फूले, स्वतंत्रता, समानता व बंधुत्व के मूल्य इसकी जड़ों को उर्वरता दें, ऐसी शुभकामनाएं।
ये भी पढ़े:  आखिर मोदी चीन का नाम लेने से क्यों डर रहे हैं?
ये भी पढ़े:  जाने क्या है नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन
ये भी पढ़े: आजादी मिलने के 73 वर्ष के भीतर ही स्वतंत्रता आंदोलन के मूल्यों की बात करना कैसे राष्ट्रद्रोह हो गया ?

चौधरी चरण सिंह डिग्री कॉलेज, हेंवरा, इटावा में स्वतंत्रता दिवस पर ध्वजारोहण किया।तर्क, सहिष्णुता, मानवता की उर्वर जमीन पर हमारे लोकतंत्र का पौधा फले-फूले, स्वतंत्रता, समानता व बंधुत्व के मूल्य इसकी जड़ों को उर्वरता दें, ऐसी शुभकामनाएं। pic.twitter.com/VYbbPQwkpQ
— Shivpal Singh Yadav (@shivpalsinghyad) August 15, 2020

बता दें कि अखिलेश यादव और शिवपाल यादव दोनों राजनीति के बड़े चेहरे हैं। हालांकि अखिलेश यादव के हाथों में सपा की कमान है। इतना ही नहीं अखिलेश यादव दोबारा सीएम बनने के लिए इन दिनों मेहनत कर रहे हैं।

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button