शिक्षा मंत्री के छोटे भाई का निधन, पैतृक गांव में हुआ अंतिम संस्कार

- in राज्य, हरियाणा
महेंद्रगढ़। हरियाणा के शिक्षा एवं पर्यटन मंत्री प्रो. रामबिलास शर्मा के छोटे भाई रोशन लाल का बुधवार सुबह उनके पैतृक गांव राठीवास में उनका अंतिम संस्कार किया गया। तीन भाइयों में सबसे छोटे 51 वर्षीय रोशन लाल लंबे समय से पंचकूला में रह रहे थे। सोमवार को वह तीर्थ के लिए वाराणसी गए थे। देर शाम वहां उनको सीने में दर्द उठा। उसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती करवाया गया, लेकिन डॉक्टर उन्हें बचा नहीं पाए।
शिक्षा मंत्री के छोटे भाई का निधन, पैतृक गांव में हुआ अंतिम संस्कार
बी-कॉम-एलएलबी थे रोशन लाल…
– मूल रूप से महेंद्रगढ़ के गांव राठीवास के रहने वाले शिक्षा मंत्री प्रो. रामबिलास शर्मा के छोटे भाई रोशन लाल बीकॉम-एलएलबी थे। उनके परिवार में पत्नी निर्मला देवी व 3 बेटियां व एक पुत्र हैं।
– सोमवार को वह तीर्थ के लिए वाराणसी गए थे। देर शाम वहां उनको सीने में दर्द उठा। उसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती करवाया गया तो डॉक्टर्स ने उन्हें डेड घोषित कर दिया।
– मंगलवार सुबह वाराणसी के अस्पताल में पोस्टमार्टम हो जाने के बाद देर शाम तक गांव में उनका शव नहीं पहुंचा था, जिसके चलते आज सुबह उनका अंतिम संस्कार किया किया गया। 

ये भी पढ़े: बन्दुक की नोक पर लूटा पेट्रोल पंप, कर्मचारियों को बंद कर सीसीटीवी रिकॉर्डिंग ले गए

सामाजिक, राजनीतिक व धार्मिक संगठनों के लोगों ने जताया शोक
शिक्षा मंत्री के छोटे भाई के आकस्मिक निधन पर जिले भर की अनेक सामाजिक, धार्मिक व राजनीतिक संगठनों ने शोक जताया है। इसके अतिरिक्त शहर के गणमान्य लोगों व ग्रामीणों ने उनके घर पहुंच शोक संतप्त परिवार को सांत्वना दी। इसके साथ ईश्वर से प्रार्थना की कि स्वर्गीय रोशनलाल की आत्मा को भगवान अपनी चरणों में जगह दे।
 
शोक जताने व्यापार मंडल महेंद्रगढ़, श्रीरामलीला परिषद, कानौड़ कला मंच, ब्राह्मण सभा, आदर्श रामलीला, हनुमान रामलीला, बजरंग दल, विश्व हिंदू परिषद, जांगिड़ समाज, यादव सभा, प्रजापत समाज, धानक समाज, वाल्मीकी समाज, सपेरा समाज, रेडीमेड एसोसिएशन, प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन, किरणा एसोसिएशन, कपड़ा बाजार एसोसिएशन, नेता जी सुभाष चन्द्र बोस युवा जागृत सेवा समिति, जिंदगी लाइव संस्था आदि के प्रतिनिधियों ने इस पर शोक जताया है।
बाजार भी रहे बंद
शिक्षा मंत्री प्रो. रामबिलास शर्मा के छोटे भाई के आकस्मिक निधन का जब समाचार लोगों तक पहुंचा, तो पूरे क्षेत्र में शोक की लहर दौड़ गई। शहर के व्यापारियों ने अपने प्रतिष्ठान बंद रखकर शोक में डूबे मंत्री के परिवार के साथ खड़े दिखे। इससे बाजार बंद रहे। अंतिम संस्कार में मुख्यमंत्री मनोहर लाल, अनिल जैन, सुभाष बराला, नायब सिंह सैनी, सांसद धर्मबीर, श्याम सिह राणा, संतोष यादव सहित अनेक गणमान्य मंत्री , सांसद, विधायक शामिल रहे।

You may also like

यूपी के 6 राज्यों में पेट्रोल-डीजल हो सकता है सस्ता, समान वैट पर जताई सहमति

पेट्रोल और डीजल पर लगने वाले वैट की